ननद अपने थानेदार प्रेमी के साथ मिल बना रही सगी भाभी पर देह व्यापार करने का दबाब - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Saturday, August 22, 2020

ननद अपने थानेदार प्रेमी के साथ मिल बना रही सगी भाभी पर देह व्यापार करने का दबाब

रिपोर्ट- मुकेश शर्मा
इटावा। उत्तरप्रदेश के इटावा जिले के फ्रेंड्स कालोनी थाने के गांधीनगर मोहल्ला में एक चौंकाने  वाला मामला सामने आया है, जिसमें एक तलाकशुदा ननद अपने थानेदार प्रेमी के साथ मिलकर जो कि यूपी के गाजियाबाद में पुलिस विभाग में ट्रैफिक निरीक्षक है के साथ मिलकर अपनी भाभी को देह व्यापार के लिए मजबूर कर रही है। पीड़िता कई बार इनके खिलाफ आवेदन दे चुकी है। जिसमे उल्लेख किया गया है कि मैं विभा (परिवर्तित नाम) मूल रूप से औरैया जिले की निवासी हूं और वहीं पर मुरादगंज में मेरी ससुराल है।  मेरी ननद निशा त्रिपाठी (परिवर्तित नाम) जिसका तलाक हो चुका है। वह अपने थानेदार प्रेमी अश्विनी भदौरिया जो गाजियाबाद में ट्रैफिक निरीक्षक हैं के साथ मिलकर मुझे लोगों से शारीरिक संबंध बनाने को मजबूर कर रही हैं। चूंकि  उसका प्रेमी पुलिस में ट्रैफिक निरीक्षक है और वह अपने पद का दुरुपयोग करते हुए मुझसे देह व्यापार करा कर बड़ा मुनाफा कमाना चाहते हैं। इन दोनों ने मेरा मोबाइल नंबर लोगों को बांट दिया है जिससे मेरे घर प्रतिदिन लोगों का आना जाना लगा रहता है और वह कहते हैं कि अश्विनी भदौरिया और निशा त्रिपाठी (परिवर्तित नाम) ने तुम्हारे साथ शारीरिक संबंध बनाने के एवज में हमसे पैसे लिए हैं जब मैं उन दोनों से इस काम को करने के लिए मना करती हूं तो उसका प्रेमी अश्वनी भदौरिया निरीक्षक मुझे झूठे केस में फंसाने की धमकी देता है। इसलिए मैं श्रीमान जी से निवेदन करती हूं कि मुझसे अनैतिक देह व्यापार करवाने के लिए दोनों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कर मुझे मेरे जान माल की सुरक्षा प्रदान की जावे।पीड़ित महिला के द्वारा इनकी शिकायत पुलिस अधीक्षक औरैया, डीआईजी कानपुर, आईजी कानपुर, डीजीपी उत्तरप्रदेश, मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश, राज्य मानव अधिकार आयोग लखनऊ, राज्य महिला आयोग लखनऊ, केंद्रीय मानवाधिकार आयोग दिल्ली, केंद्रीय महिला आयोग दिल्ली, प्रधान मंत्री भारत, महामहिम राष्ट्रपति भारत, मुख्य न्यायाधीश भारत की गई है परन्तु अभी तक पीड़ित महिला की कही भी सुनवाई नहीं हुई। उत्तरप्रदेश में पदस्थ ट्रैफिक निरीक्षक द्वारा अपनी प्रेमिका के साथ मिलकर एक महिला को जबरन दैहिक व्यापार के लिए मजबूर किया जा रहा है जिसकी सुनवाई न तो पुलिस के आला अधिकारी सुन रहे है ,न कोई जनप्रतिनिधि मजबूर महिला अपनी न्याय की गुहार हर किसी से लगा चुकी है परन्तु उसे आजतक न्याय नहीं मिला। जिस देश मे नारी का सम्मान किया जाता है वही एक ओर उत्तरप्रदेश में महिला द्वारा न्याय की भीख मांगी जा रही है। हालांकि इस संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर सीईओ सिटी वैभव पांडे ने पीड़ित महिला के कथन लेकर कार्यवाही का आश्वासन दिया है, पर कार्यवाही अभी भविष्य के गर्त में है और पीड़ित महिला की जान को खतरा है।