प्रेमिका की शादी पक्की होने से बौखलाए प्रेमी ने प्रेमिका की हत्या कर खुद को मारी गोली दोनों की मौत - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Friday, May 15, 2020

प्रेमिका की शादी पक्की होने से बौखलाए प्रेमी ने प्रेमिका की हत्या कर खुद को मारी गोली दोनों की मौत

झांसी (यूपी)। प्रेमिका का विवाह तय होने से बौखलाए प्रेमी ने प्रेमिका के घर जाकर उसकी गोली मारकर हत्या कर दी व खुद को भी गोली मार ली. गुरुवार को दोनों के मृत शरीर रक्तरंजित मिले. घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर दोनों के मृत शरीर बरामद किए. पुलिस ने मर्डर में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद किया हे. नवाबाद पुलिस ने मृतक प्रेमी के विरूद्ध आर्म्स एक्ट के तहत मुद्दा दर्ज कर लिया है.
नवाबाद थाना क्षेत्र स्थित कुम्हार का कुआं निवासी अशोक प्रजापति के घर में बेटी की विवाह की तैयारियां चल रही थीं. शिवपुरी के करैरा क्षेत्र में बेटी की विवाह तय हुआ था. 23 मई को होने वाले विवाह को लेकर संबंधियों के साथ अशोक बेटी की लगुन लेने शिवपुरी क्षेत्र में करैरा गया हुआ था.
बेटी घर के बाहर वाले कमरे में अकेले सो रही थी. बुधवार रात गुमनारावारा निवासी युवक नरेन्द्र कुशवाहा अशोक के घर पहुंचा. यहां उसने तमंचे से युवती के सिर में गोली मारकर उसकी हत्या कर दी. वहीं, खुद को भी गोली मार जान दे दी. गुरुवार प्रातः काल जब बहुत ज्यादा देर तक युवती कमरे से बाहर नहीं निकली तो परिजनों ने दरवाजा खटखटाया. अंदर से कोई हलचल न होने पर पड़ोसी ने कमरे के जंगले से झांककर देखा तो बेड पर दोनों लहूलुहान अवस्था में पड़े थे. यह देख परिवार में कोहराम मच गया. परिजनों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर दोनों के मृत शरीर निकाले. पास में ही तमंचा पड़ा था. पुलिस ने दोनों के मृत शरीर कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिए.
दोनों में था प्रेम-प्रसंग:-
पुलिस का बोलना है कि एरच निवासी युवक नरेन्द्र गुमनावारा में किराए पर रहता था. वह नगर निगम में संविदा कर्मचारी के पद पर तैनात था. नरेन्द्र का कुम्हार के कुआं में रिश्तेदारी थी. यहां उसका आना जाना था. इसी बीच उसका अशोक की बेटी से प्रेम सम्बंध हो गए. इधर, अशोक ने बेटी का विवाह तय कर दिया. इससे नरेन्द्र बौखला गया. लगुन में परिजन और संबंधियों के शिवपुरी जाने पर मौका पाकर वह अशोक के घर गया था. नवाबाद थाना प्रभारी विनोद कुमार मिश्रा कहते हैं कि युवक जबरन घर में घुसा होता तो युवती शोर मचाती, जबकि कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था.