दैनिक वेतन भोगी बनकर नपा से पगार ले रहे BJP और CONGRESS नेता - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Monday, May 25, 2020

दैनिक वेतन भोगी बनकर नपा से पगार ले रहे BJP और CONGRESS नेता

भिण्ड। अंधेर नगरी चौपट राजा, टकासेर भाजी टका सेर खाजा की कहावत भिण्ड नपा में चरितार्थ हो रही है। दैनिक वेतन भोगी के रूप में नौकरी के लिए वास्तविक हकदार ठोकरे खा रहे हैं। जवकि भाजपा व कांग्रेस का नेता होकर रसूख रखने वाले लोग कागजों में दैनिक वेतन भोगी बनकर बिना काम किए प्रति माह वेतन आहरण कर रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि पूर्व से काम कर रहे जरूरतमंद दैनिक वेतन भोगी कर्मियों को हटाने के बाद रसूखदारों को उनके स्थान पर नौकरी दे दी गई है जो काम करने के लिए नहीं बल्कि सिर्फ वेतन लेने के लिए नपा कार्यालय पहुंचते हैं। ऐसे लोगों को नियुक्ति कैसे मिल गई और पगार भुगतान कैसे हो रही है यह जांच का विषय है। नपा कार्यालय भिण्ड में पिछले पांच साल से भी अधिक समय से दैनिक वेतन भोगी के रूप में काम कर रहे मनीष कुशवाह भाजपा संगठन में वर्ष2018-19 मे नगर महामंत्री पद पर रहे,जबकि युवक कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष भिंड कौशलेंद्र सिंह कुशवाह पुत्र रामहर्ष सिंह कुशवाह भी भिंड नपा में दैनिक वेतन भोगी है।
भले ही ये काम करते नजर नहीं आए लेकिन इन्हें पगार हर महीने भुगतान की जा रही है। इतना ही नहीं साल 2008 ले लेकर 2013 तक नपा के कार्यकाल में नामित पार्षद बनाए गए मनोज कुशवाह पुत्र रामलखन सिंह का नाम भी नपा की दैवेभो कर्मी की सूची में है। इनके अलावा अनूप राजावत एवं राहुल यादव एवं पुत्र सूरज सिंह यादव जैसे 15 रसूखदार लोगों के नाम भिंड नगर पालिका में दैनिक वेतन भोगी कर्मी की लिस्ट में शामिल हैं।
सवाल यह नहीं कि रसूखदार लोग दैनिक वेतन भोगी जैसी नौकरी क्यों कर रहे हैं? प्रश्न यह है कि राजनीति में दखल रखने वाले ऐसे रसूखदार लोग बिना काम की पगार कैसे लेते हैं ।कोरोना संक्रमण मैं जहां आम गरीब तबके के मजदूरों को काम नहीं मिल रहा है वहीं ऐसे रसूखदार लोग बिना काम की तनख्वाह ले रहे हैं । हैरत की बात तो यह है कि ऐसे रसूखदार लोगों के खिलाफ अभी तक किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई है। हालांकि शहर के एक नागरिक धीरज जैन पुत्र रतन चंद्र जैन ने इस घालमेल के खिलाफ ना केवल कलेक्टर छोटे सिंह को बल्कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, आयुक्त नगरी प्रशासन लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक ग्वालियर, संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन जिला गवालियर को भी शिकायत की है ।
इनका कहना है:-
पूर्व में रहे होंगे मेरे कार्यकाल में मनीष सिंह कुशवाहा भाजपा के शहर अध्यक्ष नहीं है फिर भी यदि किसी की रोजी रोटी चल रही है तो उसका नुकसान नहीं करना चाहिए...
-नाथू सिंह गुर्जर, जिला अध्यक्ष भाजपा-
मेने कुछ महीने पूर्व ही पदभार लिया है ऐसे में जानकारी नहीं थी फर्जीवाड़ा किया गया है फर्जीवाड़ा कर की गई नियुक्तियों की जांच कराने के उपरांत संबंधियों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी, इन्हें कोन लोग वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह कर साथ दे रहे थे इसकी भी जांच कराएंगे ....
-ज्योति सिंह, सीएमओ नगर पालिका भिंड-
युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष नगर पालिका में दैनिक वेतन भोगी के रूप में नौकरी कर रहे हैं इसकी जानकारी नहीं है यदि ऐसा है तो राजनीति से त्याग देना चाहिए, नौकरी करने के बाद भी राजनीति कर रहे हैं तो संवैधानिक नहीं है 
-जयश्रीराम बघेल ,जिलाध्यक्ष कांग्रेस भिंड-