शिवपुरी जिलेभर की आज की विशेष खबरें जो आपके लिये है खास दिनांक 08-मई-2020 - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Friday, May 8, 2020

शिवपुरी जिलेभर की आज की विशेष खबरें जो आपके लिये है खास दिनांक 08-मई-2020


----------------------/1/----------------------
ई-पास जारी करने में लापरवाही पर डिप्टी कलेक्टर अंकुर गुप्ता पर कार्यवाही की जाए - धैर्यवर्धन 
-जायज एवम् जरूरतमंद को पास नहीं और कोराना कैरियर को यूपी से शिवपुरी के ग्रीन जोन में न्यौत-
शिवपुरी।।भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य और पैनलिस्ट सदस्य धैर्यवर्धन शर्मा ने ई-पास के जरिए उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से शिवपुरी आए कोरोना पॉजिटिव मरीज के मिलने के बाद इस मामले में लापरवाही पर डिप्टी कलेक्टर अंकुर गुप्ता के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। भाजपा नेता ने मांग की है कि इस प्रकरण की किसी वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी से जांच कराई जाए। साथ ही रेड जोन से ग्रीन जोन में पास जारी करने वाले अधिकारी पर कार्रवाई की जाए, क्योंकि शिवपुरी जिले में ऐसी शिकायतें सामने आ रही थी कि यहां पर जरूरतमंद और बीमार मरीजों के तो ही पास बनाए नहीं जा रहे थे लेकिन उत्तर प्रदेश के सहारनपुर देवबंद से युवक शिवपुरी आया है वह कोई गंभीर बीमार नहीं था लेकिन फिर भी मिलीभगत से पास बनाया गया। ऐसी सूचना है। इसलिए इस मामले में डिप्टी कलेक्टर अंकुर गुप्ता पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि ऐसी सूचना आ रही है कि छोटे कर्मचारियों पर गाज गिराई जा रही है जो गलत है। इस मामले में वरिष्ठ अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। छोटे कर्मचारियों के सिर पर बात टालने के बजाय इसके लिए नियुक्त ई-पास अधिकारी डिप्टी कलेक्टर अंकुर गुप्ता को निलंबित किया जाना चाहिए ।

----------------------/2/----------------------
करैरा रेस्ट हाउस पर प्रशासन ने व्यापारियों के साथ की बैठक, अब दो पाली में खुलेगीं दुकाने
करैरा (जिला शिवपुरी) कोरोना संक्रमण के चलते लॉक डाउन 03 में बाज़ार खुलने को लेकर प्रशासन ने व्यापारियों और दुकानदारो के साथ रेस्ट हाउस में बैठक का आयोजन किया जिसमें तय किया गया कि आवश्यक वस्तुओं की दुकान (किराना, फल, सब्जी, दूध आदि) सुबह 7 से 11 बजे तक ही खुलेगीं इसके अलाबा अन्य दुकाने जैसे (कपडा, जूता, इलैक्ट्रनिक, सोना, चांदी आदि) 11बजे  से 2 बजे तक खुलेंगी।
करैरा तहसीलदार जीएस बेरवा ने बताया कि निर्धारित समय के अलाब कोई भी दुकान खुली मिलती है तो दुकानदार के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जाएगी, दो पालियों में दुकाने खोलने में भी दुकानदारो को शोसल डिस्टेंश का पालन करना होगा साथ ही सेनेटाइजर का उपयोग और मास्क का उपयोग करना होगा, बैठक में तहसीलदार जी एस वेरबा, सीएमओ दिनेश श्रीवास्तव, थाना प्रभारी राकेश शर्मा उपस्थित थे जिन्होंने व्यापारियों की सहमति से यह तय किया।

----------------------/3/----------------------
कोरोना संक्रमण काल में काम करने वाले बैंककर्मी का आज 8 मई को पुष्प वर्षा कर होगा सम्मान

शिवपुरी। जिले में इस समय कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर विभिन्न कोरोना योद्धा अपना फर्ज निभा रहे हैं। इस बीच डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मचारी, सफाई कर्मचारी और पुलिस अधिकारी व जवान इस काम में मुस्तैदी से जुटे हैं। इस बीच शिवपुरी के बैंक कर्मचारी भी इस संकट काल में विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को अपनी शाखाओं से उनके खाते से पैसा प्रदान कर रहे हैं और उन्हें योजना का लाभ दिलवा रहे हैं, इसलिए ऐसे बैंककर्मी कोरोना योद्धाओं का 8 मई को पुष्प वर्षा कर स्वागत किया जाएगा। यह कार्यक्रम शहर की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा आयोजित किया जा रहा है।जिसमें स्वयंसेवी संस्था मंगलम, प्रेस क्लब, ग्रामीण बैंक सेवा समिति, मदद बैंक, रेडक्रॉस सोसाइटी, भारत विकास परिषद की वीर तात्या टोपे शाखा और पेंशनर्स एसोसिएशन के सदस्य एवं कार्यकर्ता विभिन्न बैंकों में जाकर बैंक कर्मियों का पुष्प वर्षा कर स्वागत करेंगे। विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा इसके लिए 17 टीमें बनाई गई हैं जो विभिन्न बैंकों की शाखाओं में जाकर वहां बैंक कर्मियों का पुष्प वर्षा कर स्वागत करेंगी। इस पुष्प वर्षा के लिए बैंकों में सुबह 10:00 से 11:00 का समय निर्धारित किया गया है जिसमें सभी 17 टीमों के सदस्य बैंक में जाकर कोरोना संकट में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे बैंक कर्मियों पर पुष्प वर्षा कर उनका स्वागत करेंगे।

----------------------/4/----------------------
करैरा से रैफर होकर आई प्रसूता दर्द से कराहती रही, नर्स ने फटकार कर भगा दिया

शिवपुरी। लापरवाही के ब्रांड बन चुके जिला अस्पताल की है जहां हर रोज लापरवाही होती ही रहती हैं, जिसके चलते लापरवाही का एक और मामला जिला चिकित्सालय से सामने आया है। जहां गर्भवती महिला डिलीवरी होनी थी लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के चलते कोई भी नर्स डिलीवरी करने के लिए महिला के पास नहीं आई। जिला अस्पताल में महिला की कोई सुध नहीं आया, जिससे महिला को भारी मात्रा में ब्लडिंग हुई जिसके बाद महिला की हालत काफी गंभीर बताई जा रही है।
जानकारी के अनुसार गौरव पुत्र कृष्णगोपाल सक्सैना उम्र  28 वर्ष निवासी कोर्ट के सामने वार्ड क्रंमाक 03 पुरानी टंकी के पास करैरा अपनी पत्नी रुचि सक्सेना उम्र 25 वर्ष की प्रेगनेंसी की डिलीवरी होनी थी, जिसके चलते 1 मई को गौरव उन्हें करैरा अस्पताल में लेकर गए।
लेकिन करैरा अस्पताल में उचित सुविधा ना होने के कारण अस्पताल प्रबंधन ने रुचि को शिवपुरी जिला चिकित्सालय में रेफर करने को कहा, जब रुचि के परिजनों ने एंबुलेंस की कहा तो अस्पताल प्रबंधन ने कहा कि उनके यहां फिलहाल में एंबुलेंस की व्यवस्था नहीं है अगर गौरव को अपनी पत्नी को जिला चिकित्सालय शिवपुरी में रेफर करना है तो डेढ़ घंटे का इंतजार करना पड़ेगा। जिसके बाद गौरव निजी वाहन से पत्नी रुचि को जिला अस्पताल लेकर आए, रुचि के साथ उनकी आशा कार्यकर्ता रितु भार्गव करैरा से साथ में आई थी।
बीते 2 मई की रात करीब 10:30 बजे को रुचि को बहुत तेज दर्द होने लगा जहां गौरव ने अस्पताल की नर्स प्रियंका और योग्यता से कहा कि रुचि को बहुत तेज दर्द हो रहा है, लेकिन नर्सों ने कहा कि ऐसा दर्द तो होता ही रहता है इनकी डिलीवरी बीते 2 मई को नहीं होगा सुबह 3 मई को हो पाएगी। जिसके बाद रुचि का दर्द और बढ़ता ही गया और उन्हें ब्लीडिंग होने लगी। जिसके चलते आशा कार्यकर्ता रितु भार्गव ने नर्स प्रियंका और योग्यता से कहा कि मैडम रुचि का बच्चा बाहर आने लगा है और उन्हें काफी ब्लीडिंग भी हो रही है।
जिसपर नर्स प्रियंका और योग्यता ने बात अनसुनी कर दी और रितु भार्गव से अभद्रता से बात करते हुए कहने लगीं की नर्स हम हैं या तू है, हम जानते हैं हमें क्या करना है, जिसके चलते रुचि की हालत और गंभीर होती चली गई और उनका काफी ब्लड वह चुका था। तब कहीं जाकर प्रियंका और योग्यता मैडम ने कुछ सुध ली और जहां रुचि की नॉर्मल डिलीवरी होनी थी तो लेकिन लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।
कुल मिलाकर जिला अस्पताल में कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मरीजों के साथ हो रही लापरवाही दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है। जिला चिकित्सालय में नर्सो के इस व्यवहार के चलते किसी दिन बडी घटना तय है। 

----------------------/5/----------------------
कोरोना से जूझते शहर शिवपुरी शहर में किसके आदेश से पहरे में बिक रही है शराब, प्रशासन के आदेश की अवहेलना
-खुलना थीं आवश्यक वस्तुओं की दुकानें और खुल गई कलारियां, जुटने लगी भीड़-
शिवपुरी। गहराते कोरोना संकट के बीच शिवपुरी शहर में शराब कलारियों और अंग्रेजी शराब की दुकानों से शराब की बिक्री धडल्ले से पुलिस पहरे मेंं हो गई है, जबकि नगरीय क्षेत्र में शराब विक्री के सम्बंध में डीएम द्वारा कोई प्रथक से जारी आदेश दिया गया हो ऐसा कुछ सामने नहीं आया है। बल्कि इस तरह के शराब विक्रय को कलेक्टर ने अपने आदेश में कोई छूट 11 मई तक नहीं दी है। यह सब कैसे हो रहा है और किस आदेश के तहत किया जा 4 मई से 6 मई के बीच कलेक्टर के तीन आदेश जो अपने आप में शराब कलारियों के संचालन की कहानी को सवालों के घेरे में खड़ा करते हैं-रहा है यह अपने आप में कई सवाल खड़े करने वाला घटनाक्रम है। अब तक तीन कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके हैं जिनमें से दो मरीजों के स्वस्थ्य होने के बाद शिवपुरी जिला ऑरेंज जोन से ग्रीन जोन में आ गया था, मगर 5 मई को जैसे ही तीसरा कोरोना पॉजिटिव मरीज मोहम्मद शोएब सामने आया वैसे ही शिवपुरी एक बार फि र ग्रीन जोन से हट गया और तमाम बंदिशें भी यहां लागू कर दी गई।
●गौर -करें कलेक्टर कार्यालय के पत्राचार पर●
नागरिक सुरक्षा की दृष्टि से अपर कलेक्टर कार्यालय ने 4 मई को जारी पत्र क्रमांक 178 धारा 144 के तहत विभिन्न दुकानों के संचालन में छूट संबंधी आदेश जारी किया था। इस आदेश में नगरीय क्षेत्र में दुकान संचालन के संबंध में बिंदु क्रमांक 12 पर यह उल्लेख किया गया था कि जिले में संचालित देशी विदेशी मदिरा की दुकानों का संचालन शासन आदेशानुसार हो सकेगा। यानी शराब कलारिया 5 मई से खोले जाने का रास्ता साफ हो गया था क्योंकि शिवपुरी तब ग्रीन जोन में था। अब 5 मई को शराब ठेकेदारों ने यहां दुकानों का संचालन निजी कारणों से विरोध जताते हुए नहीं किया, वहीं 5 मई को ही ईदगाह मदरसे में एक युवक मोहम्मद शोएब कोरोना पॉजिटिव सामने आ गया और देर शाम कलेक्टर कार्यालय ने अपने 4 मई को जारी आदेश क्रमांक 178 को नए आदेश क्रमांक 185 दिनांक 5 मई 2020 से संशोधित करते हुए इस आदेश में स्पष्ट तौर पर उल्लेख किया कि अब 6 मई को केवल सब्जी, दूध, किराना, मेडिकल स्टोर और पेट्रोल पंप ही खोले जाएंगे शेष संपूर्ण लॉक डाउन रहेगा। यानी 4 मई को ग्रीन जोन वाला शिवपुरी 5 मई को ऑरेंज जोन में आ गया और तमाम बाजार संबंधी छूट 5 मई को वापस ले ली गई। 6 मई को फि र शिवपुरी कलेक्टर कार्यालय ने एडीएम श्री बालोदिया के हस्ताक्षर से एक आदेश क्रमांक /स्टेनो /186 / दनांक 6 मई 2020 जारी किया, जिसमें क्रमश: 4 मई और 5 मई के पूर्व में जारी आदेशों का हवाला देते हुए यह स्पष्ट किया कि शिवपुरी में नगर पालिका सीमा अंतर्गत 11 मई तक सिर्फ पेट्रोल पंप, मेडिकल स्टोर, किराना दुकान, सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत संचालित राशन की दुकानें, सब्जी और दूध डेयरी ही प्रात: 7:00 बजे से आए 5:00 बजे तक संचालित की जा सकेगीं, शेष संपूर्ण लॉक डाउन रहेगा। इस आदेश की भाषा को देखें तो नगरीय क्षेत्र में प्रभावी इस संशोधन में कहीं भी किसी देशी कलारी या विदेशी शराब दुकान के संचालन का कोई उल्लेख कहीं से कहीं तक नहीं है ऐसे में शहरी क्षेत्र में ये विक्रय इस 6 मई के आदेश से प्रतिबंधित कर दिया गया था। अपर कलेक्टर के दिनंाक 6 मई के आदेश क्रमांक 186 में यह भी उल्लेख किया गया था कि इस संशोधन आदेश में वर्णित नगरीय क्षेत्र शिवपुरी में केवल उक्त दुकानें ही खुलेंगी शेष जिले के लिए पूर्व आदेश प्रभाव शील होगा। यानी शेष शहर को छोड़कर जिले में 4 मई के आदेश के अनुरूप देशी विदेशी शराब दुकानों का संचालन शासनादेश के अनुरूप किया जा सकता है, लेकिन नगरीय क्षेत्र में 11 मई तक इस तरह के किसी ठेका संचालन की अनुमति का उल्लेख कतई नहीं है।
●कलेक्टर के आदेश को ताक पर रख संचालित हुए ठेके●
कलेक्टर कार्यालय के धारा 144 के तहत जारी संशोधित आदेश क्रमांंक 186 दिनांक 6 मई को ताक पर रखकर शिवपुरी शहर में 7 मई से ही शराब कलारियों का संचालन दम से चौतरफा से शुरू हो गया है। जहां कोरोना के कारण आधे से अधिक शहर कैंटोनमेंट एरिया में तब्दील है सम्पूर्ण लॉक डाऊन जारी है आधे क्षेत्र को हॉट स्पॉट के तौर पर चिन्हित कर दिया गया है, ऐसे में शहरी क्षेत्र में जगह.जगह देशी.विदेशी शराब दुकानों पर जुटना शुरू शुरू हुई पियक्कड़ों की भीड़ अपने आप में यह कहानी कह रही है कि प्रशासन कागजों में जो आदेश जारी कर रहा है उसका धरातल पर अनुपालन कम से कम शराब कलारियों के संचालन के क्रम में तो कतई नहीं हो रहा। यह अपने आप में न केवल दुर्भाग्यपूर्ण है बल्कि बेहद विसंगति योग्य भी क्योंकि कलेक्टर ने अपने इस आदेश में स्पष्ट रूप से कहा है कि शहरी क्षेत्र में 11 मई तक मेडिकल स्टोर्स , किराना राशन, दुकान, पेट्रोल पंप डेयरी और सब्जी की बिक्री को छोड़कर शेष संपूर्ण लॉग डाऊन घोषित किया गया है। जो इसका उल्लंघन करेगा उसके उसके विरुद्ध महामारी नियंत्रण अधिनियम एवं अन्य सुसंगत प्रावधानों के अंतर्गत कड़ी कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। लेकिन अब जब शराब कलारीयों का संचालन खुलेआम पुलिस के पहरे में हो रहा है तो इसे क्या कहा जा सकता है। हकीकत क्या है क्या शराब दुकान है  कलेक्टर के अधिकार क्षेत्र से बाहर हैं  यदि नहीं तो उन्हें  कल जारी  नगरीय क्षेत्र के संशोधन आदेश में  इसका  उल्लेख करना चाहिए था । कहीं लोगों को बताने को कुछ और शराब कारोबारियों को कुछ आदेश तो प्रथक प्रथक जारी नहीं कर दिए या फिर रातों रात यह आदेश भी संशोधन टीप के साथ बदल डाला गया कोई स्थिति स्पष्टï करने तैयार नहीं।

----------------------/6/----------------------
शराब दुकान खुलने में देरी पर आबकारी उपनिरीक्षक को कर दिया सस्पेंड

शिवपुरी। कोरोना महामारी के इस दौर में शराब दुकान खुलवाने और नए ठेकेदारों को स्थापित कराने के लिए शासन प्रशासन कितना संवेदनशील और उतावला है कि कलारी खुलवाने में चंद घण्टे लेट होने पर आबकारी विभाग के उपनिरीक्षक वृत पिछोर एवं कोलारस अनिरुद्ध खानविलकर को अपर आबकारी आयुक्त शिवराज सिंह ने तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार जिला आबकारी अधिकारी शिवपुरी ने आबकारी आयुक्त को प्रतिवेदन दिया था जिसमें अनिरुद्ध खानविलकर आबकारी उप निरीक्षक व्रत पिछोर एवं कोलारस को जिला आबकारी अधिकारी शिवपुरी एवं उडऩदस्ता ग्वालियर द्वारा कई बार मोबाइल करने पर भी 7 मई को दोपहर 3:30 बजे तक नवीन लाइसेंसी अधिकृत प्रतिनिधि कपिल अरोरा को आबकारी वृत पिछोर एवं कोलारस की एक भी दुकान का प्रभार नहीं दिलाया गया जा सका था जिसके कारण शराब दुकानों का संचालन प्रारंभ नहीं हो सका। इस प्रतिवेदन को आधार मानकर अनिरुद्ध खानवलकर आबकारी उप निरीक्षक के इस कृत्य को गंभीर लापरवाही निरूपित करते हुए मध्यप्रदेश सिविल सेवा नियम 1966 के नियम के अंतर्गत तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है। निलंबन अवधि में मुख्यालय कार्यालय उप आयुक्त आबकारी संभागीय उडऩदस्ता संभाग नियत किया गया है यह आदेश आबकारी आयुक्त मध्यप्रदेश शिवराज सिंह द्वारा 7 मई को ही जारी किया गया है।

----------------------/7/----------------------
बढऩे लगीं दूरियां… चंद रोज में ही सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों का हुआ शिवराज से मोह भंग
-पूर्व विधायक रांठखेड़ा नहीं मानते सीएम को रियल हीरो विज्ञापन ने खोली पोल: बढ़ रही है सिंधिया समर्थकों की शिवराज से दूरियां-
शिवपुरी (मध्य प्रदेश)। अभी गत मार्च में ही सत्ता परिवर्तन के दौर में कांग्रेस से बगावत कर भाजपा के पाले में आए पोहरी के सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक सुरेश राठखेड़ा को भाजपा में आए डेढ़ माह ही हुआ है कि उनका प्रदेश सरकार के मुखिया भाजपा के वरिष्ठ नेता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मोहभंग हो गया लगता है। कोरोना संक्रमण त्रासदी के दौरान सत्ता के उलटफेर की धुरी बने बागी विधायकों में पोहरी के सुरेश राठखेड़ा भी एक अहम किरदार थे। हाल ही इन्होंने प्रिंट मीडिया में पूरे पेज का विज्ञापन प्रकाशित कराया है जो इस समय चर्चा की सुर्खियां बन गया है। यह विज्ञापन कोरोना फ ाइटर्स के उत्साहवर्धन के साथ.साथ राजनीतिक नजरिया भी लिए हुए है, जिसमें सुरेश राठ खेड़ा ने जिला स्वास्थ्य प्रशासन के नर्स और चिकित्सकों से लेकर पीएम मोदी, अमित शाह भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा,केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ.साथ भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वाले पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से लेकर शिवपुरी की पूर्व विधायक यशोधरा राजे सिंधिया तक को कोरोना युद्ध का रियल हीरो बताते हुए इनके छायाचित्र प्रकाशित कराए हैं, मगर आश्चर्यजनक ढंग से इस एक पृष्ठीय विज्ञापन में प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की एक टिकट साइज फ ोटो भी पोहरी के पूर्व विधायक द्वारा प्रकाशित ना करवाई जाना इस बात का द्योतक मानाा जा रहा है कि वह मुख्यमंत्री का इस कोरोना त्रासदी से की जा रही लड़ाई में कोई योगदान मानने को तैयार नहीं। राजनैतिक अब उन पर निशाना साध रहे हैं और कह रहे हैं कि सुरेश रांठखेड़ा की नजर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ऐसे रियल हीरो नहीं है जिन्हें सैल्यूट में स्थान मिले। भाजपा के नव प्रवेशी पूर्व कांग्रेसी विधायक का यह मोह भंग किन परिस्थितियों में हुआ यह तो वे जाने, लेकिन राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा सरगर्म हो गई है कि सिंधिया समर्थकों ने अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से दूरी बनाना शुरू कर दिया है। संभवत यह स्थिति मंत्रिमंडल गठन में हो रही देरी और सिंधिया समर्थकों को पर्याप्त स्थान और महत्व न मिलने के कारण निर्मित होना शुरू हो गई है। डंके की चोट प्रकाशित कराए गए कोरोना के रियल हीरोज नामक विज्ञापन में छोटे से छोटे कर्मचारी और बड़े अधिकारियों के अलावा तमाम सारे नेताओं के नाम होना तथा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को दूध की मक्खी की तरह इस विज्ञापन से बाहर कर देना कई सवाल खड़े कर रहा है। जब यह विसंगति सामने लाई गई तो पूर्व विधायक सुरेश राठ खेड़ा ने इसे अपने विरुद्ध राजनैतिक षड्यंत्र करार देने का खटराग अलापना शुरू कर दिया। पूर्व विधायक सुरेश राठ खेड़ा का तर्क था कि उनकी जानकारी के व गैर जिम्मेदाराना ढंग से उनके राजनीतिक विरोधियों ने यह षडय़ंत्र किया है। हालांकि उनके इस तर्क में इसलिए कोई दम नजर नहीं आती क्योंकि भरपूर पृष्ठ का विज्ञापन बिना किसी की सहमति या लिखित अनुमोदन के प्रकाशित किया जाना संभव नहीं। कहीं ना कहीं इस बात का परिचायक है कि सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक जिस मंशा के साथ शिवराज सिंह चौहान को प्रदेश की बागडोर दिलाने कांग्रेस से बगावत कर सामने आए और भाजपा में शामिल हुए उनकी वह मंशा अब बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में धूमिल होती दिखाई दे रही है और अब वे शनै शनै मोहभंगता की स्थिति में आते जा रहे हैं।
----------------------/8/----------------------
नगर पालिका शिवपुरी फिर नए बैनर घोटाले की तैयारी में!
शिवपुरी । नगर  पालिका शिवपुरी इस कॅरोना महामारी में भी जनता की गाड़ी कमाई को लूटने की तैयारी में लगी हुई है! और इस खेल की जवाबदारी भी एक ऐसे अधिकारी को दी जा रही है जो पूर्ब में एक कांग्रेसी नेता की शिकायत पर शिवपुरी से विदा होकर भिंड रवाना हो गए थे लेकिन इन सहाब का मन भिंड में कहा लगनेवाला था ?क्योंकि इनका तन,मन और धन तीनो शिवपुरी और यहाँ के लोगो मे लगा हुआ था  तभी सहाब ने मेडिकल लगाकर नगर पालिका के पिछवाड़े में ही बैठकर कमाई का नया धंधा बना लिया और पिछली तारीखों में कई फाईलो को निपटा कर खूब  कमाई की जिसका नतीजा यह है कि खरबूजे की तरह लालिमा देने लगें।हो सकता है कि इसका राज ओर कुछ भी पर सहाब की चमक देख शहर के लोग भी कहने लगे माल तो इन्होंने ही कमाया है इनके चेहेर पर ट्रांसफर की शिकन तक नही। लेकिन सूत्रों ने बताया कि कॅरोना महामारी में नगर पालिका प्रशासन द्वारा दुकानों के बाहर जो बैनर लगाए जा रहे है उनका साइज 2 बाई 2 जिसका टोटल माल 4 फ़ीट ओर जिसकी लागत 6 रुपये फुट से 24 रुपये होती है लेकिन बैनरो की संख्या को अधिक दिखाया जाकर इन बैनरो की दर बाजार भाव से दुगनी चौगनी  दर पर बिल लगाने की तैयारी है यह खेल एक टेंट व्यवसायी के साथ मिलकर इस नगरपालिका अधिकरी ने खेलने का बनाया है अब आगे देखते है कि नगर पालिका की कमान अभी वर्तमान में जिलाधीश महोदय के हाथों में ओर वह इस भुगतान को रोक पाएंगी ? यह तो आनेवाला समय ही बताएगा ।

----------------------/9/----------------------
आज से खुलेंगे शहर के बाजार,करना होगा नियमों का पालन, आलाधिकारियों की व्यापारियों के साथ हुई बैठक में लिया गया निर्णय

शिवपुरी। शहर के बाजार खोले जाने को लेकर आज पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों की एक बैठक व्यापारियों के साथ हुई है, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बाजार खोले जाने को लेकर अहम निर्णय लिया गया है। साथ ही बाजारों में भीड़ न हो इसलिए वाहन प्रवेश पर रोक लगाते हुए अलग से पार्किंग की व्यवस्था भी की गई है। बैठक में कलेक्टर अनुग्रह पी, पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल के अलावा अन्य अधिकारी और व्यापारी मौजूद रहे। बैठक में जो निर्णय लिए गए हैं उन पर एक नजर।
👉🏻शहर के बाजार कल शुक्रवार से आवश्यक शर्तों के साथ सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खोले जाएंगे।
👉🏻बाजार की जिन दुकानों को सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक का समय मिला हुआ था, वह दुकानें शुक्रवार को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खुलेंगी। जबकि जिन दुकानों को दोपहर 2 बजे से शाम 7 बजे तक का समय दिया गया था, वह दुकानें शनिवार को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खोली जायेंगी।
👉🏻सुनार गली जिसे 1, 2, 3 नम्बर में रखा गया था। यहां पर अब एक तरफ की दुकानें शुक्रवार सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खुलेंगी, जबकि दूसरी साइड की दुकानें शनिवार को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खोली जाएंगी। 
👉🏻शहर के मुख्य बाजार के अलाबा बाहरी हिस्सों की दुकानों पर समय बंधन नही किया गया है वो सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक प्रतिदिन खोली जा सकेंगी।
👉🏻रविवार को टोटल लॉक डॉउन रहेगा।
👉🏻सदर बाजार प्रगति बाजार में नही हो सकेगा वाहन प्रवेश।
👉🏻पार्किंग टेकरी, न्यू ब्लॉक चौराहा, गांधी चौक पर रहेगी। 
👉🏻सेनिटाइजर एवं मास्क रहेंगे अनिवार्य।
👉🏻हर दिन ग्राहकों के नाम पते लिखना होगा अनिवार्य।