शिवपुरी जिलेभर की आज की विशेष खबरें जो आपके लिये है खास दिनांक 06-मई-2020 - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Wednesday, May 6, 2020

शिवपुरी जिलेभर की आज की विशेष खबरें जो आपके लिये है खास दिनांक 06-मई-2020


----------------------/1/----------------------
यूपी के देवबंद यूपी से लौटा कोलारस का युवक निकला कोरोना पॉजिटिव मचा हड़कम्प
- पुरानी शिवपुरी के ईदगाह में रुका था कोरोना पॉजिटिव, किया गया सील,साथ में आए दो युवकों के भी हुए सैम्पल-

-मेडिकल इमरजेंसी बालों तक को जारी नही किए जा रहे ई-पास, हॉट स्पॉट क्षेत्र में जाने की दी गई अनुमति सन्देह के घेरे में-
देखिये वीडियो:-


शिवपुरी। बीतेरोज उत्तरप्रदेश सहारनपुर जिले के देवबंद से शिवपुरी आए कोलारस निवासी एक युवक मोहम्मद सोहिब पुत्र सरीफ खान की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद से शहर में हड़कम्पपूर्ण स्थिति निर्मित हो गई है। सोहिब को पुरानी शिवपुरी निवासी उसका मित्र अकील उद्दीन टेवरा कार से लेने के लिए उत्तरप्रदेश गया था। उसके साथ कार चालक साहिद इशरार और मो. इस्माइल भी थे। इन तीनोंं के सैम्पल भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लेते हुए इन्हें क्वरैंटीन कर दिया है। वहीं मदरसे में रहने वाले लोगों की भी जांच की जा रही है। मौके पर स्वास्थ्य महकमे के अलाबा पुलिस और प्रशासन की टीमों ने पहुंचकर मो. सोहिब को पकड़कर उसे अस्पताल में क्वरैंटीन कर दिया है। यहां मार्के बाला पहलू यह है कि उक्त युवक उत्तरप्रदेश के उस जिले से शिवपुरी आया था जहां कुछ समय पहले जमाती पकड़े गए थे। साथ ही इस मामले में जाँच का पहलू यह भी है कि किस आधार पर इन्हें ई पास जारी किया गया। बताया जाता है कि सोहिब की ट्रेवल हिस्ट्री खंगालने के साथ-साथ यह भी पता लगाया जा रहा है कि कहीं वह जमातियों के सम्पर्क में तो नहीं आया है। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने पूरे ईदगाह क्षेत्र को वैरीगेट्स लगाकर सील कर दिया है और लोगों के आने जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही ईदगाह में रहने वाले लोगों को भी क्वरैंटीन किया गया है।कोलारस में सब्जी मंडी के पास निवासरत मो. सोहिब खान उम्र 27 वर्ष उत्तरप्रदेश के देवबंद में स्थित मदरसे में धार्मिक शिक्षा ग्रहण करता था। बताया जाता है कि कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन के कारण वह कोलारस नहीं आ सका था। इसलिए पुरानी शिवपुरी निवासी मो. अकील उद्दनी से उसकी बात हुई। बकौल मो. सोहिब, मेरे मित्र अकील उद्दीन ने प्रशासन से विधिवत अनुमति प्राप्त की थी। दी गई अनुमति जांच के घेरे में है। वह टवेरा कार क्रमांक एमपी 33 बीबी 1856 से 3 मई को देवबंद पहुंचे और कल 4 मई को वह वापिस शिवपुरी आ गए थे। उनके साथ ड्रायवर साहिद इशरार और मो. इस्माइल भी था। बताया जाता है कि यूपी से आने के बाद अकील उद्दीन ने उसे ईदगाह मदरसे में ठहरा दिया। जब प्रशासन को सोहिब के आने की जानकारी मिली तो मौके पर पहुंचकर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उसका सैम्पल लिया। बताया जाता है कि सोहिब खान के कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद कोलारस पुलिस सोहिब के कोलारस स्थित निवास स्थान पर पहुंची जहां परिवार के सदस्यों को क्वरैंटीन किया गया है। 
यूपी का हॉट स्पॉट है सहारनपुर जिला:-
उत्तरप्रदेश का सहारनपुर यूपी का हॉट स्पॉट है। जहां कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 192 बताई जाती है। मंगलवार को एक ही दिन में 52 मरीज संक्रमित पाए गए हैं। इसी जिले में देवबंद तहसील में मदरसे में रहकर मो. सोहिब धार्मिक शिक्षा ग्रहण कर रहा था और कल ही वह बाहर से वापस आया था।
आखिर किस आधार पर जारी किया ई-पास:-
अकील उद्दीन ने ई-पास के लिए आवेदन किया था और  कलेक्टर कार्यालय से उसे ई-पास भी जारी कर दिया गया। जबकि प्रशासन को इस बात की जानकारी थी कि उत्तरप्रदेश का सहारनपुर जिला और वहां की तहसील देवबंद हॉट स्पॉट है। बाबजूद इसके यह अनुमति किस आधार पर जारी की गई। सामान्यत: आवदेनकर्ताओं को ई-पास मेडीकल इमरजेंसी में जारी किया जाता है और शेष ई-पास के आवेदन कारण बताकर निरस्त कर दिए जाते हैं। लेकिन शिवपुरी में मेडिकल इमरजेंसी बालों तक को भी ई पास जारी नही किए जा रहे और उत्तरप्रदेश के हॉट स्पॉट में दी गई यह अनुमति संदेह के घेरे में है।

----------------------/2/--------------------- 
श्रम सुधारों की ओर एक महत्वपूर्ण कदम - 4 केन्द्रीय और 3 राज्य अधिनियमों में संशोधन 
शिवपुरी। उद्योगों और श्रमिकों के हित में 4 केन्द्रीय और 3 राज्य अधिनियमों में संशोधन की अधिसूचना जारी की जा रही है। इसके साथ ही लोक सेवा प्रदाय गारंटी अधिनियम में 18 सेवाओं को एक दिन में देने का प्रावधान किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों के साथ बैठक में विभिन्न अधिनियमों में प्रस्तावित संशोधनों में बिन्दुवार चर्चा कर कोरोना के बाद उत्पन्न स्थिति में आगामी एक हजार दिनों में उद्योगों को विभिन्न रियायतें देने की जरूरत बताई थी। श्री चौहान ने आज के प्रतिस्पर्धी दौर में निवेश बढ़ाने और श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से श्रम कानूनों में आवश्यक संशोधन के प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए थे। विभागीय निरीक्षणों से मिलेगी मुक्ति:- कारखाना अधिनियम 1948 के अंतर्गत कारखाना अधिनियम 1958 की धारा 6,7,8 धारा 21 से 41 (एच), 59,67,68,79,88 एवं धारा 112 को छोड़कर सभी धाराओं से नवीन उद्योगों को छूट रहेगी। इससे अब उद्योगों को विभागीय निरीक्षणों से मुक्ति मिलेगी। उद्योग अपनी मर्जी से थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन करा सकेंगे। रजिस्टर के संधारण में छूट मिलेगी। फेक्ट्री इंस्पेक्टर द्वारा जाँच एवं निरीक्षण से मुक्ति मिलेगी। उद्योग अपनी सुविधा में शिफ्टों में परिवर्तन कर सकेंगे। मध्यप्रदेश औद्योगिक संबंध अधिनियम 1960 में संशोधन के साथ इस अधिनियम के प्रावधान उद्योगों पर लागू नहीं होंगे। इससे किसी एक यूनियन से समझौते की बाध्यता समाप्त हो जायेगी। औद्योगिक विवाद अधिनियम 1947 में संशोधन के बाद नवीन स्थापनाओं को एक हजार दिवस तक औद्योगिक विवाद अधिनियम में अनेक प्रावधानों से छूट मिल जायेगी। संस्थान अपनी सुविधानुसार श्रमिकों को सेवा में रख सकेगा। उद्योगों द्वारा की गयी कार्यवाही के संबंध में श्रम विभाग एवं श्रम न्यायालय का हस्तक्षेप बंद हो जायेगा। मध्यप्रदेश औद्योगिक नियोजन (स्थायी आदेश) अधिनियम 1961 में संशोधन के बाद 100 श्रमिक तक नियोजित करने वाले कारखानों को अधिनियम के प्रावधानों से छूट मिल जायेगी। इससे श्रमिक निष्ठापूर्वक उत्पादन में सहयोग करेंगे। मध्यप्रदेश श्रम कल्याण निधि अधिनियम 1982 के अंतर्गत जारी किये जाने वाले अध्यादेश के बाद सभी नवीन स्थापित कारखानों को आगामी एक हजार दिवस के लिये मध्यप्रदेश श्रम कल्याण मण्डल को प्रतिवर्ष प्रति श्रमिक 80 रूपये के अभिदाय के प्रदाय से छूट मिल जायेगी। इसके साथ ही वार्षिक रिटर्न से भी छूट मिलेगी। लोक सेवा प्रदाय गारंटी अधिनियम में 18 सेवाएँ एक दिन में:- लोक सेवा प्रदाय गारंटी अधिनियम 2010 के अंतर्गत जारी अधिसूचना के अनुसार श्रम विभाग की 18 सेवाओं को पहले तीस दिन में देने का प्रावधान था। अब इन सेवाओं को एक दिन में देने का प्रावधान किया गया है। कारखाना अधिनियम 1948, दुकान एवं स्थापना अधिनियम 1958, ठेका श्रम अधिनियम 1970, अंतर्राज्यीय प्रवासी कर्मकार अधिनियम 1979, मोटर परिवहन कर्मकार अधिनियम 1961, मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार अधिनियम 1996 और बीड़ी एवं सिगार कामगार (नियोजन की शर्ते) अधिनियम 1966 में पंजीयन के लिये ऑनलाइन आवेदन करने पर एक दिन में ही ऑनलाइन पंजीयन मिल जाएगा। इससे पंजीयन के लिये बेवजह कार्यालयों के चक्कर काटने से मुक्ति मिलेगी। दुकान एवं स्थापना अधिनियम 1958 में संशोधन के बाद कोई भी दुकान एवं स्थापना सुबह 6 से रात 12 बजे तक खुली रह सकेगी। इससे दुकानदारों के साथ ही ग्राहकों को भी राहत मिलेगी। पचास से कम श्रमिकों को नियोजित करने वाले स्थापनाओं में श्रम आयुक्त की अनुमति के बाद ही निरीक्षण किया जा सकेगा। निरीक्षण में पारदर्शिता होगी। कारखानों को दो रिटर्न के स्थान पर एक ही रिटर्न भरना पड़ेगा। ठेका श्रमिक अधिनियम 1970 में संशोधन के बाद ठेकेदारों को 20 के स्थान पर 50 श्रमिक नियोजित करने पर ही पंजीयन की बाध्यता होगी। 50 से कम श्रमिक नियोजित करने वाले ठेकेदार बिना पंजीयन के कार्य कर सकेंगे। इस अधिनियम में संशोधन के लिये प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा गया है। कारखाने की परिभाषा में संशोधन:- कारखाना अधिनियम के अंतर्गत कारखाने की परिभाषा में विद्युत शक्ति के साथ 10 के स्थान पर 20 श्रमिक और बगैर विद्युत के 20 के स्थान पर 40 श्रमिक किया गया है। इस संशोधन का प्रस्ताव भी केन्द्र शासन को भेजा गया है। इससे छोटे उद्योगों को कारखाना अधिनियम के पंजीयन से मुक्ति मिलेगी। इसके पूर्व 13 केन्द्रीय एवं 4 राज्य कानूनों में आवश्यक श्रम संशोधन किये जा चुके हैं।

----------------------/3/----------------------
रेड, ऑरेंज एवं ग्रीन जोन के अंतर्गत सभी बिजली बिल भुगतान केंद्र चालू 
शिवपुरी। वैश्विक महामारी कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में लॉक डाउन प्रभावी होने के कारण विद्युत वितरण केंद्रों एवं जोन कार्यालयों में बिल भुगतान केंद्रों पर नगद बिल जमा करने का कार्य स्थगित रखा गया था। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने बताया है कि 4 मई से लॉक डाउन-3 लागू होने के बाद रेड, ऑरेंज एवं ग्रीन जोन के सभी वितरण केंद्र एवं जोन स्थित बिल भुगतान केंद्रों ने काम करना शुरू कर दिया है। इसके अलावा सभी ए.टी.पी. मशीनध्एम.पी. ऑनलाईन का संचालन भी प्रारंभ कर दिया गया है। कंपनी ने बिजली उपभोक्ताओं से अपील की है कि निर्धारित सुरक्षा मानदंडो का उपयोग (जैसे- दूरी बनाए रखना, मास्क का उपयोग आदि) करते हुये बिल जमा करने की व्यवस्था का लाभ लें। राजस्व संग्रहण के लिये ऑनलाइन व्यवस्था जैसे portal.mpcz.in, UPAY एप, नेट बैकिंग, फोन-पे, अमेजन-पे, पेटीएम, एच.डी.एफ.सी.-पे एवं अन्य भुगतान विकल्प पूर्ववत चालू रहेंगे। 

----------------------/4/----------------------
शासकीय कर्मचारी आई डी कार्ड से अपने कर्तव्य स्थल पर पहुंच सकेंगे 
शिवपुरी। प्रमुख सचिव मध्यप्रदेश शासन नगरीय विकास एवं आवास संजय दुबे ने जारी आदेश में कहा है कि राज्य शासन के समस्त अधिकारी कर्मचारियों के लिए जो लॉक डाउन के कारण अपने कर्तव्य स्थल पर नहीं आए हैं उनके लिये शासकीय कार्यालय अथवा संस्था का आईडी कार्ड ही ई-पास के रूप में मान्य किया गया है। जारी आदेश में कहा गया है कि शासकीय कर्मचारियों के लिए ई-पास की पृथक व्यवस्था नहीं की गई है। राज्य शासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि ऐसे समस्त अधिकारी-कर्मचारीगण जो अपने कर्तव्य स्थान पर उपलब्ध नहीं है वे अगर अपने निवास स्थान से अपने कर्तव्य स्थल जिले में आना चाहते हैं और वह रेड जोन में शामिल जिला हो तो भी वे अपने शासकीय आई डी कार्ड से अपने कर्तव्य स्थल पर पहुंच सकते है। 

----------------------/5/----------------------
प्रदेश के गरीबों को पुनः मिलेगा संबल योजना का लाभ 
शिवपुरी। मध्यप्रदेश में असंगठित श्रमिकों के लिए शुरू की गई मुख्यमंत्री जन कल्याण सबंल योजना के प्रभावी क्रियान्वयनके मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये हैं। संबल योजना को व्यापक स्वरूप दिया जायेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान 5 मई को संबल योजना के श्रमिकों को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 41 करोड़ रूपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से उनके खातों में ट्रांसफर करेंगे। संबल योजना के अंतर्गत असंगठित श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा की योजनाएँ शुरू की गई है। इस योजना में न केवल पंजीकृत श्रमिकों बल्कि उनके परिवार के सदस्यों को भी लाभान्वित किया जाता है। योजना के अंतर्गत असंगठित श्रमिकों के पंजीयन के लिए विशेष अभियान चलाया गया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के नेतृत्व में शुरू की गई संबल योजना का उद्देश्य यह था कि सरकार के जन कल्याण के प्रयासों से समाज का कोई वर्ग अछूता नही रहें। सरकार की कोशिश समाज के हर वर्ग कोनए शिखर पर ले जाना रहा है। संबल योजना में असंगठित श्रमिक उन्हें माना गया है जो नौकरी, स्वरोजगार, घरों में कार्य करने वाले, किसी एजेंसी ठेकेदार के जरिए या प्रत्यक्ष रूप से कार्यरत जैसे भविष्य निधि और ग्रेजुयटी आदि समाजिक सुरक्षा का लाभ नही मिलता। संबल योजना में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों कीसामान्य मृत्यु की दशा में सहायता राशि2 लाख रूपये की अनुग्रह राशि का प्रावधान है। दुर्घटना में मृत्यु की दशा में अनुग्रह सहायताराशि 4 लाख रूपये स्थायी अपंगता पर अनुग्रह सहायताराशि 2 लाख रूपये और आशिंक स्थायी अपंगता में अनुग्रह सहायताराशि 1 लाख रूपये देने का प्रावधान है।मृत्यु होने पर श्रमिक के उत्तराधिकारी को तत्काल 5 हजार की राशि अंत्येष्टि सहायता के रूप मेंदी जाती है। संबल योजना के अंतर्गत पंजीकृत श्रमिकों के परिवार को निरूशुल्क चिकित्सा सुविधा तथा महाविद्यालयीन स्तर तक निरूशुल्क शिक्षा की सुविधा भी प्रदान की जाती है। 

----------------------/6/----------------------
ग्रीन जोन में दस्तावेजों का पंजीयन शुरू 

शिवपुरी। राज्य शासन ने प्रदेश के सभी वरिष्ठ जिला पंजीयक, जिला पंजीयक को ग्रीन जोन घोषित जिलों और तहसीलों में दस्तावेजों के पंजीयन का कार्य शुरू करने के निर्देश दिये हैं। वाणिज्यिक कर विभाग ने आदेश जारी कर दिये हैं। जिलों में क्राइसिस मैंनेजमेंट ग्रुप, कलेक्टर के आदेश द्वारा प्रति-दिन ग्रीन-जोन घोषित जिलों और तहसीलों की अद्यतन सूची प्राप्त की जाएगी। ग्रीन-जोन में स्थित कार्यालयों में कलेक्टर द्वारा निरीक्षण और पुष्टि के बाद दस्तावेजों के पंजीयन का काम 4 मई, 2020 से शुरू किया जाएगा। जैसे-जैसे जो जिले और पूरी तहसील ग्रीन जोन होती जाएगी, उन जिलों और तहसीलों में स्थित पंजीयन कार्यालयों में भी पंजीयन का कार्य शुरू किया जाएगा। दस्तावेज पंजीयन के दौरान सर्विस प्रोवाइडरों और निष्पादकों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति पर पूरी तरह रोक रहेगी। साथ ही भारत सरकार द्वारा कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिये निर्धारित आदर्श परिचालन प्रक्रिया तथा राज्य शासन और जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप द्वारा समय-समय पर निर्धारित शर्तों का पालन अनिवार्य रहेगा।  

----------------------/7/----------------------
वृत करैरा की भांग दुकान के निष्पादन हेतु टेण्डर 11 मई तक आमंत्रित 
करैरा, शिवपुरी। जिले के वृत करैरा में भांग दुकान का वर्ष 2020-21 की शेष अवधि के लिए निष्पादन किए जाने हेतु 11 मई 2020 अपराह्न 03 बजे तक टेण्डर आमंत्रित किए गए है। टेण्डर की कार्यवाही से संबंधित जानकारी कार्यालय जिला आबकारी अधिकारी से कार्यालयीन समय में प्राप्त की जा सकती है। उक्त टेण्डर खोलने की कार्यवाही कलेक्टोरेट शिवपुरी में 11 मई 2020 को शाम 4 बजे से कार्यवाही पूर्ण होने तक की जाएगी। यदि किसी काराणवश निर्धारित तिथि को टेण्डर की कार्यवाही पूरी नहीं हुई तो, कलेक्टर द्वारा अन्य घोषित किसी भी दिन व समय पर टेण्डर की कार्यवाही की जा सकेगी। ऐसी भांग की फुटकर बिक्री की दुकानों के निष्पादन में जो व्यक्ति भाग लेना चाहे, वे निर्धारित निष्पादन स्थल पर नियत तिथि एवं समय पर उपस्थित होकर नियमानुसार टेण्डर दे सकते है। इच्छुक टेण्डरदाता, टेण्डर द्वारा निष्पादित की जाने वाली भांग की फुटकर बिक्री की प्रत्येक दुकान के लिए टेण्डर प्रपत्र मूल्य रूपए 500 सायबर चालान के माध्यम से जमा कर कार्यालय जिला आबकारी अधिकारी से प्राप्त कर सकते है। टेण्डर की शर्ते एवं निर्बन्धन टेण्डर के समय, निष्पादन स्थान पर भी पढ़कर सुनाए जाएगें। भांग की फुटकर बिक्री की दुकानों के लायसेंसो के निष्पादन की व्यवस्था से संबंधित मुख्य शर्तो एवं निर्बन्धनों को वेबसाइट www.govtpressmp.nic.in से डाउनलोड किया जा सकता है। 

----------------------/8/----------------------
इन क्षेत्रों में आज विद्युत प्रवाह बंद रहेगा 
शिवपुरी। 33 के.व्ही. आईटीआई उपकेन्द्र के 11 के.व्ही. मनियर एवं हाउसिंग बोर्ड फीडर पर 06 मई 2020 को मानसून पूर्व आवश्यक रखरखाव कार्य कराये जाने के कारण विद्युत प्रवाह बंद रहेगा। कल 06 मई को प्रातः 08 बजे से शाम 04 बजे तक मनियर बीज गोदाम, दुबे नर्सरी, लालमाटी, मुदगल कालोनी, फतेहपुर आदि संबंधित क्षेत्र तथा प्रातः 08 बजे से दोपहर 01 बजे तक हाउसिंग बोर्ड कालोनी, संतुष्टि एवं ठकुरपुरा आदि क्षेत्र प्रभावित रहेंगे।  

----------------------/9/----------------------
कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने भ्रमण कर देखी बाजार की व्यवस्थाएं 
शिवपुरी। भारत सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार जिले में व्यवस्था लागू की गई है। कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी के द्वारा सोमवार को विभिन्न शर्तों और समय सीमा के साथ बाजार में दुकानें खोलने संबंधी आदेश जारी किया गया। साथ ही व्यापारियों और विभिन्न संघों के साथ बैठक कर बाजार की व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की गयी। मंगलवार की दोपहर कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी और पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने बाजार का भ्रमण कर स्वयं व्यवस्थाएं देखी और दुकानदारों से चर्चा की। उन्होंने सर्राफा बाजार कोर्ट रोड होते हुए सदर बाजार, टेकरी, प्रगति बाजार और गांधी चैक का निरीक्षण किया। उन्होंने दुकानदारों को कहा कोरोना वायरस बीमारी से बचाव करना हम सभी की जिम्मेदारी है। अगर हम लापरवाही बरतेंगे तो संक्रमण का खतरा बढ़ेगा इसलिए सभी स्वयं की जिम्मेदारी समझें और सावधानी बरतें। दुकानों पर सैनिटाइजर रखें और मास्क का उपयोग करें और आने वाले ग्राहकों को भी उपयोग करने की सलाह दें। इस दौरान एएसपी एसडीओपी शिव सिंह भदौरिया, सीएमओ पटेरिया, सूबेदार, टीआई, आरआई आदि साथ में मौजूद थे। दुकानों पर भाव सूची लगाने के निर्देश:- भ्रमण के दौरान सर्राफा बाजार में कुछ दुकानों पर भाव सूची नहीं थी। इसे देखकर कलेक्टर अनुग्रहा पी ने दुकानदारों को भाव सूची लगाने के निर्देश दिए। इस दौरान एक दुकान पर बैनर भी नहीं था, तो दुकान को बंद कराने के निर्देश दिए। रजिस्टर में ग्राहकों की जानकारी दर्ज करें:- दुकानदारों को समझाइश दी गयी है कि दुकानों पर आने वाले ग्राहकों की जानकारी रजिस्टर में दर्ज करें। किसी भी दुकान पर जितने भी ग्राहक आते हैं उन सभी के नाम और पते की जानकारी रजिस्टर में दर्ज होना चाहिए। 

----------------------/10/--------------------
कोरोना पॉजीटिव मरीज मिलते ही बदले शिवपुरी के हालात, आज सिर्फ यह मिलेगा 
शिवपुरी। कोरोना क्लीन शिवपुरी में कोरोना पॉजीटिव मरीज मिलते ही अचानक हलात बदल गए,जिला सहारनपुर तहसील देववंद से आयातित होकर कोलारस में आए मरीज खॉन के कारण शिवपुरी जिले के प्रशासन और पब्लिक की 45 दिन की तपस्या भंग हो गई।आज ही बाजार गुलजार हुआ और आज ही उस पर ग्रहण लग गया। लॉकडाउन की राहते अब खत्म हो सकती हैं:- शिवपुरी कलेक्टर अनुग्रह पी ने बताया कि कोरोना पॉजीटिव मरीज की कांटेक्ट ट्रेसिंग करने के लिए प्रशासन युद्ध स्तर पर प्रयास करेंगा। इस कारण कल लॉकडाउन के नियमो में संशोधन किया हैं। कल दूध, सब्जी, किराना, फल और मेडिकल के अतिरिकत पूरा बाजार बंद रहेगा। 

----------------------/11/--------------------
शिवपुरी : ओड इवन से नाखुश दुकानदार, न चली बसें, न ही खुली शराब की दुकान 
-बस ऑपरेटर यूनियन भी नाराज, शुरू नहीं की बस सेवा- 

शिवपुरी।।भारत सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार जिला कलेक्टर अनुग्रहा पी द्वारा बस, वाहन, दुकानों को शुरू के आदेश कल देर शाम को शिवपुरी में जारी किये गये जिसमें शराब की दुकानें भी शामिल है। हालांकि की इन निर्देशों के साथ कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाब के लिये भी कई नियम निर्देशों को जारी किया गया। कलेक्टर के निर्देशों के तहत मुख्य बाजार में एक दुकान खोलने और एक दुकान बंद रहने के नए निर्देशों के कारण व्यापारियों में नाराजगी देखी गई। साथ ही आज शराब की दुकानें भी नहीं खोली गई। शराब ठेकेदारों का कहना है कि लॉक डाउन में यह पॉलिसी हमारे लिए घाटे का सौदा है। बस ऑपरेटर यूनियन द्वारा नहीं शुरू की बस सेवा:- प्रदेश सरकार के आदेशों के बाद ग्रीन जॉन में बस सेवा को शुरू कराने के आदेश ग्रीन जॉन में आने वाले सभी जिलों के कलेक्टरों को जारी किये थे जिसके बाद शिवपुरी जिला कलेक्टर ने बस ऑपरेटरों के साथ मीटिंग कर निर्देश जारी किये थे जिसमें बस में सवारियों बेठालने लिये जितनी क्षमता बस की है उसके पचास प्रतिशत सवारियों को बेठालने निर्देश दिये थे तथा साथ ही बसों को हर दिन सेनेट्राइज करने के आदेश भी दिये थे। परन्तु बस यूनियन के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के अनुसार उन्होंने अपनी बसों के संचालन को नहीं किया गया है। बस संचालित करने से पहले बस ऑपरेटरों द्वारा प्रशासन से मांग रखी गई है कि जब से लोग डाउन की शुरुआत हुई है उस दिनांक से आज दिनांक तक बसों का टैक्स माफ किया जाए जिसके बाद ही वह अपनी बसों का संचालन करेंगे। आदेश के बाद भी शुरू नहीं हो पाई शराब की दुकाने:- भारी विरोध के बाद भी पूरे मध्यप्रदेश में सरकार ने जो क्षेत्र ग्रीन जोन में आता है वहां पर शराब की दुकानों को खोलने के निर्देश जारी किए गए परंतु लिक्विड एसोसिएशन द्वारा सरकार के समक्ष अपनी मांगे रखी जिसमें 25% एक्साइज ड्यूटी को कम करने की मुख्यत रखी उक्त मुख्य कारण की वजह से शिवपुरी में भी शराब की दुकानों को शराब ठेकेदारों द्वारा बंद रखा गया। ओड इवन की तर्ज से नाखुश दुकानदार:- कोरोना वायरस के चलते बाजारों में भीड़ एकत्रित ना हो सके वाह साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन पूर्णता हो पाए जिसके लिए दिल्ली की तर्ज पर ऑडी वन का नियम बाजारों में लागू किया गया जिसमें कुछ दुकानें जो दैनिक दिनचर्या मैं उपयोग में आने वाली सामग्रियों का विक्रय करती है। उन दुकानों को प्रतिदिन दो फेज में खोला जाना निर्देशित किया जिसमें एक दुकान प्रातः 7:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक खोलने की अनुमति दुकानदार को दी गई व उसी दुकान से सटी हुई दूसरी दुकान को दोपहर 2:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक खोलने की अनुमति प्रशासन द्वारा दी गई हालांकि इस नियम से कई व्यापारी ना खुश दिखाई दिए तथा कुछ दुकानों को सप्ताह में 2 दिन खोलने की अनुमति प्रशासन द्वारा दी गई। स्थानीय व्यापारियों ने बताया कि जिला प्रशासन की दो पालियों में दुकानें खोलने के निर्देश ठीक नहीं है। इसमें सुधार की गुंजाइश है। व्यापारियों ने बताया कि इसकी बजाय तो दुकान खोलने के घंटे घटा दिए जाएं। जिससे ग्राहकों को भी एक बार में सामान लेने में दिक्कत नहीं होगी।

----------------------/12/--------------------
शिवपुरी पुलिस द्वारा अवैध शराब के साथ एक आरोपी को दबोचा 
बैराड़, शिवपुरी। थाना प्रभारी बैराड़ निरीक्षक एसएस सिकरवार को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की ग्राम कालामढ़ में अवैध शराब का विक्रय हो रहा है उक्त सूचना पर से वरिष्ठ अधिकारीयों के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी बैराड़ द्वारा मय फोर्स के मुखविर सूचना पर ग्राम कालामड बैराड़ में दबिश दी दबिश के दौरान आरोपी पुलिस को देखकर भागने लगा जिसकी घेराबंदी कर दबोचकर नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम शिशुपाल पुत्र भरतलाल रावत उम्र 35 साल निवासी कांकर थाना सतनवाड़ा हाल कालामढ़ बैराड़ का होना बताया जिसके कब्जे से दो कैनों मे 55 लीटर हाथ भट्टी की बनी कच्ची शराब कीमत 5500 रुपए की विधिवत जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर अपराध क्रमांक 173/20 धारा 34(2)आवकारी एक्ट का पंजीबद्ध किया गया। 

----------------------/13/------------------- 
सपोर्ट वाहिनी ITBP करैरा में बारिश व तूफान से हुआ भारी नुकसान 
करैरा, शिवपुरी। सपोर्ट वाहिनी भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस बल करेरा में गत दिवस दिनांक 3/05/20 को आयी भीषण आंधी, तूफान और बारिश की वजह से काफी मात्रा में पेड़ टूट गये। जानकारी के अनुसार आये आंधी तूफान से कई स्थानों पर वाहिनी की चारदीवारी व इमारतों के कुछ हिस्से क्षतिग्रस्त हो गए हैं, इसके अतिरिक्त बिजली के पोल व तार, टीन सेट, कूलर एवं जवानों के टेंटों का भी भारी मात्रा में इस तूफान की वजह से नुकसान हुआ है। आंधी- तूफान इतना ज्यादा था कि होर्डिंग, स्ट्रीट लाइट, टीन सेट के कुछ हिस्से व पेड़ों की टहनियां एक स्थान से दूसरे स्थान पर हवा के साथ उडक़र पहुंच गए। वाहिनी के बाहर तथा अंदर लगे बैनर भी इस दौरान क्षतिग्रस्त हो गए हैं, वाहिनी के पदाधिकारियों द्वारा कैंप का भ्रमण कर आंधी तूफान और बारिश से हुए नुकसान का जायजा लिया गया है। अधिकारियों के निर्देश पर जवानों द्वारा कैंप परिसर में व्यवस्थाएं स्थापित करने एवं साफ सफाई का अभियान चलाया जा रहा है।  

----------------------/14/--------------------
कोरोना: अपने घर पर मास्क बनाकर गरीब बस्तीयों में बांट रही है बैराड की छाया 
बैराड़। देश इस समय वैश्विक महामारी से जूझ रहा है और इसस लड़कर इसको हराने में सहयोगरत है तो बहीं बैराड़ तहसील में एक ओर समाजसेवी राशन पानी की व्यवस्था कर रहे है दूसरी ओर लोगो को स्वंय निर्मित कर निशुल्क मास्क वितरण किए जा रहे है। बैराड़ में छाया शर्मा द्वारा स्वंय मास्क निर्मित कर ग्रामीण क्षेत्रो में जाकर वितरित किए गए। बैराड़ के ग्राम भौराना, आदवासी वस्ती टोड़ा, बैराड़ बस्ती में भी जाकर करीब 300 मास्क वितरण कर सलाह दी कि घर से फालतू बाहर न घूमे और यदि किसी आवश्यक कारण के चलते घर से बाहर जा भी रहे हो तो मास्क लगाकर निकलें एक दूसरे से दूरी बनाए रखें,बार बार हाथ धोएं आदि कोरोना बचाव के उपाय भी बताए। इसके साथ छाया ने नगर परिषद बैराड़ के लिए भी 200 मास्क तैयार कर सीएमओ अब्दुल अकबर कुर्रेशी को सौंपे।