शिवपुरी जिलेभर की आज की विशेष खबरें जो आपके लिये है खास दिनांक 04-मई-2020 - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Monday, May 4, 2020

शिवपुरी जिलेभर की आज की विशेष खबरें जो आपके लिये है खास दिनांक 04-मई-2020

----------------------/1/----------------------
आज सोमवार को पहले की तरह ही तय समय सीमा में खुलेंगे बाजार
शिवपुरी शहर में सराफा, रेडीमेड, वस्त्र, बर्तन सहित अन्य दुकानों को मंगलवार से खोले जाने की तैयारी की जा रही है, सराफा दुकानों को अलग-अलग दिनों व समय पर खोला जाएगा, सड़क पर स्थित रेडीमेड, कपडा सहित अन्य दुकानों को सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक एवं दोपहर 2 से 7 बजे तक अलग-अलग खोला जाने पर विचार चल रहा है, डीएम अनुग्रहा पी एवं पुलिस कप्तान राजेश सिंह चन्देल सहित अन्य अधिकारियों ने किया बाजार का निरीक्षण, सोमवार 4 मई को पहले की तरह ही खोला जाएगा बाजार, किराना,दवाई, पेट्रोल, सब्जी ठेले, डेयरी, खाद, बीज, हार्डवेयर, बिल्डिंग मटेरियल सहित जो बाजार तय समय सीमा में खुल रहे थे उसी तरह सोमवार को खुलेंगे। सोमवार को होने बाली बैठक में अन्य बाजार खोलने पर लिया जाएगा निर्णय, सूत्रों की माने तो 5 मई मंगलवार से खोली जा सकती है वह दुकानें जिनका आदेश मे है उल्लेख।

----------------------/2/----------------------
पानी सप्लाई के नाम पर होता रहा है करोड़ों का खेल,इस बार शहर में नहीं दिख रही कोई भी मारामारी, बरिष्ठ अभिभाषक विजय तिवारी ने उठाया मामला, शिकायत जल्द
-नपा में प्रशासक नियुक्ति ने करोड़ों के जल घोटाले का किया खुलासा-

शिवपुरी। नगर पालिका में हुई प्रशासक नियुक्ति ने भ्रष्टाचार की पोल खोलकर रख दी है। यह भ्रष्टाचार शहर की जनता को पानी पिलाने के नाम पर पिछले कई बर्षों से किया जा रहा था और इस गोलमाल में जनता द्बारा चुनकर नपा भेजे गए वे तमाम जनप्रतिनिधि भी शामिल थे जो समाजसेवा के लिए सामने आए थे। अब इस पूरे मामले को वरिष्ठ अभिभाषक विजय तिवारी ने उजागर किया है,साथ ही उचित स्थानों पर इसकी शिकायत कर जाँच की मांग करते हुए जल घोटाले को अंजाम देने बाले अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है।
पूर्व में हुआ यह करता था कि माह अप्रैल के आरम्भ होते ही नगर पालिका द्बारा शहर के सभी वार्डों में कृत्रिम जल संकट में दर्शाते हुए प्राइवेट टैंकर लगाए जाते थे तथा माह अप्रैल माह आते-आते 39 वार्ड में 3-3 टैंकर जल प्रदाय हेतु आवंटित कर दिए जाते थे, किंतु इस वर्ष मई प्रारम्भ हो चुका है। बाबजूद इसके संपूर्ण शहर के किसी भी वार्ड में कहीं से भी टैंकरों की मांग सामने नही आई और न ही 39 वार्डों में से किसी भी स्थान पर जलसंकट जैसी स्थिति दिखाई दी। इससे यह स्पष्ट है कि पूर्व में नगरपालिका के कर्ताधर्ताओं द्वारा टैंकरों को लेकर किस हद तक भ्रष्टाचार किया जाता था। पिछले वर्ष का ही रिकार्ड उठाकर देखा जाए तो पानी सप्लाई में लगाए गए टैंकरों के खेल का खुलासा हो सकता है।
●विवादों में रह चुका है बड़े टैंकरों का मामला:-
इस वर्ष पानी सप्लाई का जो मामला अभिभाषक विजय तिवारी ने उठाया है वह बहुत गंभीर होकर करोड़ों रुपए के काले कारनामे की परतें खोलता है। बशर्ते इस पूरे मामले में लीपापोती न होकर निष्पक्ष जाँच कराई जाए तो।पिछले समय नपा द्बारा जो बड़े टैंकर पानी सप्लाई में लगाए गए थे उनके प्रतिदिन कागजों में दर्शाए जाने बाले चक्कर भी अपने आप में भ्रष्टाचार को उजागर करता है। जब यह मामला तूल पकड़ा था तो पानी सप्लाई में लगाए गए टैंकरों के भुगतान को रोक दिया था। हालांकि सूत्रों का कहना है कि बाद में इस मामले में भी लीपापोती कर भुगतान कर दिए गए थे।
●दिखावे के लिए करते है विरोध, भुगतान के नाम पर एक साथ खड़े दिखाई देते है सभी दल के पार्षद:-
इस वर्ष शहर में पानी की कोई भी मारामारी दिखाई नहीं दे रहे जबकि पिछले वर्षों पर नजर डाली जाए तो नपा में पदस्थ जनप्रतिनिधियों द्वारा शहर के भीतर बड़े पैमाने पर पानी की मारामारी दर्शाते हुए तमाम टैंकर सप्लाई में लगाए जाते थे और इनका मोटा भुगतान भी होता था। इस काले खेल में पानी के नाम पर कुछ जनप्रतिनिधियों द्वारा सिर्फ और सिर्फ परिषद बैठक में दिखावे के लिए विरोध दर्ज कराया जाता था। इनके फर्जी विरोध का उस समय खुलासा हुआ जब गत वर्ष विवादों में आने के बाद टैंकरों का भुगतान रोका गया तो सभी पार्षद दोनों प्रमुख दलों के वरिष्ठ नेताओं के समक्ष एक छतरी के नीचे भुगतान कराने के लिए अनेकों बार खड़े दिखाई दिए थे।
●जल घोटाले के लिए होता था विरोध:-
शिवपुरी शहर के किसी भी वार्ड में इस वर्ष पानी की समस्या दिखाई नही दे रही। जबकि अब से पूर्व होता यह रहा है कि प्रतिवर्ष गर्मी का मौसम आते ही नगर पालिका में चुने गए पार्षद अपने-अपने वार्डों में जल समस्या को दिखाते हुए विरोध दर्ज कराते हुए पानी के टैंकर लगाए जाने के लिए मांग करते थे और होता भी यही था कि पार्षदों की मांग पर टैंकर पानी सप्लाई हेतु लगाए जाते थे और इन टैंकरों का भुगतान करोड़ों रुपए में होता था। लेकिन इस बार नपा में प्रशासन नियुक्ति और कोरोना महामारी ने पिछले कई बर्षों से चले आ रहे पानी घोटाले को उजागर कर दिया है। पार्षद अपने वार्ड में जल समस्या नहीं दिखा पाए, टैंकर भी नही लगाए गए, जिसके परिणाम स्वरूप इस बार वे लोग जो पानी के नाम पर करोड़ों के बारे न्यारे करते थे उनका गोरखधंधा नही चमक पाया।

----------------------/3/----------------------
प्रदेश के बाहर फँसे श्रमिक टोल-फ्री नम्बर 0755-2411180 पर करायें पंजीयन

शिवपुरी। अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल-रूम आई.सी.पी. केशरी ने बताया है कि प्रदेश के बाहर फँसे श्रमिक, जो मध्यप्रदेश अपने घर आना चाहते हैं, वे स्टेट कंट्रोल-रूम के फोन नम्बर 0755-2411180 पर पंजीयन करा सकते हैं। इसके अतिरिक्त, http://mapit.gov.in/covid-19 पर भी पंजीयन करवा सकते हैं। यह टेलीफोन नम्बर केवल मध्यप्रदेश के बाहर फँसे श्रमिकों के पंजीयन के लिये है। आई.सी.पी. केशरी ने आग्रह किया है कि मध्यप्रदेश के बाहर फँसे श्रमिक इस टेलीफोन नम्बर अथवा पोर्टल में शीघ्र पंजीयन करायें। उन्होंने बताया कि श्रमिकों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर ही उनकी वापसी का प्रोग्राम तैयार किया जायेगा।

----------------------/4/----------------------
अब तक प्रदेश में घर वापस लाये गये 50 हजार श्रमिक
शिवपुरी। कोरोना संक्रमण के कारण अन्य प्रदेशों में फँसे मध्यप्रदेश के लगभग 50 हजार श्रमिक आज तक प्रदेश वापस लाए जा चुके हैं। इसी तरह, प्रदेश के विभिन्न जिलों में फँसे करीब 38 हजार श्रमिकों को पिछले 8 दिनों में उनके गृह स्थान पर पहुँचाया जा चुका है। आज नासिक से ट्रेन से 347 लोग भोपाल लाये गये।
अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल-रूम आई.सी.पी. केशरी ने जानकारी दी है कि गुजरात से करीब 6 हजार लोग लाये गये हैं। श्रमिकों के स्वास्थ्य परीक्षण और भोजन-पानी की व्यवस्था के बाद उन्हें उनके गृह स्थानों की ओर रवाना किया जा रहा है। लगभग 2 से 3 हजार लोग प्रतिदिन पैदल प्रदेश में वापस आ रहे हैं। उन्होंने बताया है कि तमिलनाडु, केरल, आंध्रप्रदेश, गोवा एवं महाराष्ट्र से भी ट्रेनों से श्रमिकों को लाने की कार्यवाही की जा रही है।

----------------------/5/----------------------
इन क्षेत्रों में विद्युत प्रवाह बंद रहेगा आज
शिवपुरी। 33 के.व्ही. आईटीआई उपकेन्द्र के 11 के.व्ही.झांसी तिराहा एवं 33 के.व्ही.बलाजीधाम, माढ़ा एवं सुभाषपुरा फीडर पर 04 मई 2020 को मानसून पूर्व आवश्यक रखरखाव कार्य कराये जाने के कारण विद्युत प्रवाह बंद रहेगा। आज प्रातः 08 बजे से शाम 04 बजे तक राजेश्वरी रोड, सावरकर कालोनी, महल कालोनी, कृष्णपुरम, तुलसीनगर, खेडापति कालोनी एवं आदर्श नगर से संबंधित क्षेत्र, प्रातः 09 बजे से शाम 05 बजे तक 33/11 के.व्ही.उपकेन्द्र माढ़ा, अकाझिरी, रन्नौद, सुभाषपुरा एवं धौलागढ़ से जुड़े क्षेत्र, प्रातः 08 बजे से दोपहर 02 तक सभी निकलने वाले 11 के.व्ही.फीडर एसएएफ कत्थामिल एवं हाउसिंग बोर्ड क्षेत्र समस्त क्षेत्र प्रभावित रहेंगे।

----------------------/6/----------------------
उपचुनाव के कैम्पेनिंग मे सोशल मीडिया की भूमिका प्रभावशाली होगी :भानू प्रताप किरार
शिवपुरी। प्रदेश मे लोकडाउन के बाद 24 सीटो पर उपचुनाव होने है ।जिसमे से 22 सीट ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थको की है। ऐसे मे सभीराजनीतिक पार्टियाँ सीटो को अपने-अपने कब्जे मे लेने के लिए क्षेत्रीय जनता के बीच भरसक जद्दोजहद मे रहेंगी। क्योकि नतीजे जनता के मूढ़ पर आधारित होंगे।
उपचुनावों को ध्यान मे रखते हुए  युवा पोलेटिक्स व डिजिटल ब्रांडिंग स्ट्रैटेजिस्ट भानुप्रताप किरार जो कि कई राजनेताओं के लिए चुनावी कैम्पेनिंग कर चुके उनसे जाना कि आज इंटरनेट के दौर मे एक नेता अपने क्षेत्र की जनता से कौन से माध्यमों से सीधे तौर पर जुड़ सकते है।
युवा रणनितिकार किरार ने बताया कि पिछले कई विधानसभा एवं लोकसभा चुनावों मे  चुनाव कैम्पेनिंग डारेक्ट इंटरनेट से प्रभावित रही है, क्योंकि देश व प्रदेश मे लगभग सभी मतदाता सोशल मिडिया प्लेटफार्मो का उपयोग करते है और सभी जननेता भी फेसबुक, ट्विटर, टिकटोक, यूट्यूब, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लगभग मौजूद हैं और क्षेत्रीय जनता अपने नेताओ को इन प्लेटफार्म पर फोलो करती है जिससे उन्हें अपने नेता की दैनिक गतिविधियों का पता चलता है। हमने 2014 से लेकर अबतक के पिछले चुनावों मे अनुभव भी किया है कि सोशल मिडिया ने कई क्षेत्रों के नतीजों मे निर्णायक भूमिका निभाई है।
इंटरनेट के दौर मे एक सोशल मीडिया का माध्यम जनता से जननेता को सीधे संवाद स्थापित कराने मे सहायक हो सकता है। उपचुनाव मे नेता के पास समय सीमा की कमी होने पर ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रीय जनता तक पहुंचने मे ये प्लेटफार्म कारगर सिद्ध होंगे। फिलहाल लॉकडाउन मे इन माध्यमों का ताजा उदाहरण स्वयं माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी है एवं सभी बड़े राजनेता और सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्री व क्षेत्रीय नेता भी जनता से संपर्क के लिए इन माध्यमों का उपयोग कर रहे है।
वाट्सएप और अन्य सोशल मैसेंजर का उपयोग जनसमास्याओ को सीधे जनता से पता करने मे जननेता उपयोग कर सकते है।
किरार ने बताया कि, अगर हम कहे कि 'सफल चुनाव कैम्पेनिंग
से तात्पर्य एक नेता का उसकी क्षेत्रीय जनता के मध्य एक संतुलित जनसंपर्क है' तो बिना इंटरनेट और सोशल मीडिया प्लेटफार्मो के उपयोग से ये आज की चुनावी शैली मे संभव नही है।
किरार ने ये भी बताया कि इंटरनेट के दौर मे ये सभी प्लेटफार्म तो हर क्षण अपनी क्षेत्रीय जनता से जुड़े रहने का एक त्वरित माध्यम है। नेता के प्रत्यक्ष संपर्क से जनता(मतदाता) रहती है ओर  पूर्णतः संतुष्ट भी होती है।

----------------------/7/----------------------
तेलंगाना में फंसे नवोदय विद्यालय के छात्र- छात्राओं को वापस लाया गया, स्क्रीनिंग कर घर पहुंचाया
शिवपुरी। जिले के नरवर में स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्र-छात्राएं तेलंगाना में फंसे थे। वह माइग्रेशन नीति के तहत वहां पढ़ने के लिए गए थे। उन्हें कुछ दिनों पहले ही अपने घर शिवपुरी वापस आना था, लेकिन लॉक डाउन के कारण वह घर वापस नहीं आ पाये। प्रदेश सरकार द्वारा तेलंगाना से सभी बच्चों को सकुशल शिवपुरी उनके घर पहुंचाने का निर्णय लिया गया। उन्हें लेने के लिए बसें भेजी गई। रविवार को सभी बच्चे शिवपुरी पहुंच गए। यहां बदरवास में मेडिकल टीम द्वारा सभी बच्चों की स्क्रीनिंग की गई और फिर उन्हें उनके घरों के लिए रवाना किया गया। 
तेलंगाना से सकुशल अपने घर पहुंचने पर छात्र-छात्राओं ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जी और शिवपुरी जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया। इतने दिनों बाद अपने घर वापस आने और अपने माता-पिता से मिलने की खुशी उनके चेहरे पर स्पष्ट दिखाई दे रही थी। 
छात्रा स्वाति यादव ने कहा कि अपने घर वापस आने की खुशी हो रही है। हमें तेलंगाना से वापस लाकर हमारे घरों तक पहुंचाया गया है इसके लिए मुख्यमंत्री जी और शिवपुरी जिला प्रशासन को धन्यवाद।
●जिले के 23 छात्र- छात्राएं:-
नवोदय विद्यालय नरवर के 23 छात्र-छात्राएं वापस लाए गए हैं। इनमें 9 छात्राएं और 14 छात्र शामिल हैं। जिसमें पिछोर से एक, कोलारस 5, करैरा 4, शिवपुरी 1,  पोहरी 3, बदरवास 2, खनियाधाना 3 और नरवर के 4 विद्यार्थी हैं।

----------------------/8/----------------------
कोरोना आपदा में रोजगार हेतु मास्क निर्माण व नि:शुल्क वितरण मदद बैंक निभा रहा भूमिका
शिवपुरी। कोरोना आपदा के समय घर में ही कुछ सृजनात्मक कार्य किए जाऐं इसे लेकर अनूठी पहल सेवाभावी संगठन मदद बैंक द्वारा की गई। जिसके संरक्षक बृजेश सिंह तोमर द्वारा अपने प्रयासों से उन परिवारों को जोड़ा जहंा घर बैठे रोजगार प्राप्त कर इस कोरोना आपदा में योगदान दिया जा सके। ऐसी माृतशक्ति के द्वारा मास्क निर्माण कराकर एक ओर जहां उन्हें स्वावलंबी बनाया गया तो वहीं इन मास्क निर्माण के पश्चात उन्हें नि:शुल्क वितरण करने में जो महती भूमिका मदद बैंक निभा रहा है उसे अन्य समाजसेवी संस्था सराहा रहे है साथ ही सहयोग राशि प्रदान कर मास्क निर्माण में अपना योगदान प्रदान कर रहे है। बता दें कि सेवा प्रकल्पों के छोटे से समूह मदद बैंक द्वारा बिखरे हुये परिवारों को एक सूत्र में पिरोने के संकल्प हेतु समर्पित परिवार परामर्श केंद्र ने मदद बैंक के कोरोना मुक्ति यज्ञ के अंतर्गतष् मास्क निर्माण एवं निशुल्क वितरण प्रकल्प ष्की न केबल भूरि-भूरि प्रशंशा की बल्कि केंद्र की ओर से आंशिक सहयोग राशि भेट करते हुये हर सम्भव मदद का आश्वासन भी दिया है। शब्द व अंश सम्मान हेतु महत्वपूर्ण भूमिका वरिष्ठ पत्रकार आलोक एम इन्दोरिया ने निर्वहन की। उन्होंने मदद बैंक मातृशक्तियो की सेवाभावना की भी मुक्तकंठ से सराहना की। Óकोरोना संक्रमण के दौर से आमजन को बचाने हेतु मदद बैंक समूह के छोटे से प्रयास  मास्क निर्माण एवं नि:शुल्क वितरण हेतु परिवार परामर्श केंद्र के संरक्षक पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल की प्ररेणा से जिला संयोजक आलोक एम इंदौरिया, वरिष्ठ सदस्य श्रीमती गीता दीवान हैप्पी डेज स्कूल, वरिष्ठ सदस्य राजेंद्र राठौर, समीर गांधी, राजेश गुप्ता राम, राहुल गंगवाल के द्वारा मदद बैंक समूह के इस यज्ञ में गुप्त आहुति दी है। आलोक एम इन्दोरिया ने यह भी विश्वास दिलाया हैं कि आगे भी हम सभी इस नेक काम में निरंतर सहयोग करते रहेंगे।

----------------------/9/----------------------
जनसंवाद में कोरोना की जानकारी साझा की
शिवपुरी। पुलिस द्वारा स्थापित कोरोना संवाद कंट्रोल रूम से जनता को जागरूक करने के लिए महत्वपूर्ण जानकारियां देने का सिलसिला लगातार जारी है और यह संवाद ढाई किमी क्षेत्रफल में लाउड स्पीकर के जरियेें सुना जा सकता है। रोजाना शाम को एक गेस्ट को यहां बुला कर उनसे कोरोना सम्बन्धी सवाल-जबाब कर जनता के लिए प्रसारित किया जाता है। ऐसे ही एक गेस्ट मेडिकल कालेज के मेडिसिन के विभागाध्यक्ष डॉ रितेश यादव को आमंत्रित किया गया जिन्होंने कोरोना सम्बन्धी महत्चपूर्ण जानकारियां साझा की गई। इस दौरान डॉ.रीतेश यादव द्वारा कोरोना के संदर्भ में आयोजिन संवाद के दौरान महती जानकारियंा दी गई और उन्हें सांझा करते हुए अन्य लोगों तक यह संदेश पहुंचे इसे लेकर पुलिस विभाग के इस कार्य को सराहा कि माईक के द्वारा दूर-दूर तक यह संदेश पहुंचाया जा रहा है जिससे लोग इस संदेश को सुन स्वयं कोरोना से अपना बचाव करने में भागीदार होंगें।