वरिष्ठ पत्रकार शिवहरे से एसडीएम गुर्जर ने किया अभद्र व्यवहार, पत्रकार आक्रोश में - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Thursday, April 23, 2020

वरिष्ठ पत्रकार शिवहरे से एसडीएम गुर्जर ने किया अभद्र व्यवहार, पत्रकार आक्रोश में

-जिला पंचायत सीईओ को सौंपा ज्ञापन, की कार्रवाई की मांग-
शिवपुरी। शिवपुरी के वरिष्ठ पत्रकार और दैनिक सांध्य तरूण सत्ता के प्रधान  संपादक डॉ. रामकुमार शिवहरे के साथ आज एसडीएम अतेंद्र सिंह गुर्जर ने अभद्र व्यवहार किया तथा उन पर कोरोना फैलाने का आरोप लगाते हुए अपने अर्दली से उन्हें बाहर निकालने को कहा। घटना के समय दो अन्य पत्रकार रोहित मिश्रा और राजकुमार शर्मा भी मौजूद थे। गाली गलौच करते हुए एसडीएम गुर्जर अपनी गाड़ी से बंगले से चले गए। एसडीएम के अभद्र और अशालीन व्यवहार के खिलाफ पत्रकारों में आक्रोश है। पत्रकारों ने कलेक्ट्रेट जाकर कलेक्टर अनुग्रह पी को ज्ञापन देने की कोशिश की। लेकिन कलेक्टर के बाहर होने के कारण बाद में पत्रकारों ने जिला पंचायत सीईओ एचपी वर्मा को ज्ञापन देकर उनसे एसडीएम गुर्जर को शिवपुरी से हटाने की मांग की। कल पत्रकार कलेक्ट्रेट में सुबह 11 बजे कलेक्टर अनुग्रह पी को ज्ञापन देंगे और ज्ञापन की प्रति संभाग के प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, विधायक और पूर्व मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा व भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी  लोकेंद्र पाराशर को भी दी गई है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार वरिष्ठ पत्रकार डॉ. रामकुमार शिवहरे की पुत्री का स्वास्थ्य खराब होने के कारण स्थानीय डॉक्टरों ने उन्हें ग्वालियर दिखाने की सलाह दी थी। इस पर आवेदन पत्र लेकर पत्रकार शिवहरे एसडीएम कार्यालय पहुंचे। बताया जाता है कि यहां उनके अधीनस्थ कर्मचारियों ने बताया कि एसडीएम साहब बंगले पर हैं। आप वहीं चले जाईए। एसडीएम ने उन्हें बंगले पर आने के लिए कहा। इस पर श्री शिवहरे और दो अन्य पत्रकार एसडीएम गुर्जर के बंगले पर पहुंचे। लेकिन यहां उन्हें एसडीएम गुर्जर से बुरी तरह अपमानित होना पड़ा। एसडीएम ने उनसे गुस्साए अंदाज में कहा कि कोई परमिशन नहीं मिलेगी और तुम यहां आकर कोरोना फैला रहे हो। उन्होंने अपने कर्मचारी से कहा कि इन्हें धक्के देकर बाहर निकाल दो। श्री शिवहरे ने शालीनतापूर्वक अपनी बात रखने की कोशिश की और कहा कि मैं कोरोना कैसे फैला रहा हूं। मेरे चेहरे पर मास्क लगा हुआ है और मैं पूरी तरह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा हूं। हमारे दोनों साथी भी सोशल डिस्टेंसिंग बनाए हुए हैं। लेकिन सत्ता के नशे में चूर एसडीएम ने उनकी एक बात नहीं सुनी और वह गाली देते हुए गाड़ी लेकर बंगले से चले गए। अनुमति के कागजात उन्होंनेे वहीं फैंक दिए। इस घटना की जानकारी जब पत्रकारों को लगी तो सभी पत्रकार कलेक्ट्रेट पहुंच गए। लेकिन कलेक्ट्रेट में कलेक्टर अनुग्रह पी नहीं मिली। उनसे मोबाइल पर सम्पर्क करने की कोशिश की गई। लेकिन उन्होंने मोबाइल रिसीव नहीं किया। बताया जाता है कि वह कोटा नाका में थी। जहां वह कोटा से आने वाले छात्रों की अगवानी कर रही थीं। इसके बाद पत्रकार जिला पंचायत पहुंचे। जहां उन्होंने जिला पंचायत सीईओ एचपी वर्मा को वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद भार्गव के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा और उन्हेें पूरी घटना बताते हुए एसडीएम को हटाने की मांग की। इस अवसर पर पत्रकार अशोक कोचेटा, उमेश भारद्वाज, अशोक अग्रवाल, अजय खैमरिया, रंजीत गुप्ता, योगेंद्र जैन, रिंकू जैन, रोहित मिश्रा, राजकुमार शर्मा, लालू शर्मा, मोंटू तोमर, मुकेश जैन, नीरज रजक, प्रदीप तोमर, कपिल मिश्रा, मानसिंह, विजय बिंदास, सतेंद्र उपाध्याय, दीपेंद्र चौधरी, साबिर खान, सौरभ भार्गव सहित अनेक पत्रकार मौजूद थे।