प्रख्यात कवि श्री सतीश श्रीवास्तव की दिल्ली दंगो को लेकर लिखी कविता "सब चुप क्यों है" वायरल - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Friday, February 28, 2020

प्रख्यात कवि श्री सतीश श्रीवास्तव की दिल्ली दंगो को लेकर लिखी कविता "सब चुप क्यों है" वायरल

करैरा शिवपुरी:- करैरा निवासी जाने-माने वरिष्ठ कवि श्री सतीश श्रीवास्तव की कविता सब चुप क्यों है सोशल मीडिया पर खासी सुर्खिया बटोर रही है। दिल्ली के दर्द को उन्होंने कविता में ऐसे उतारा की ह्रदय को छू गयी इनकी कविता आप भी पड़े और सबको शेयर कर पढ़ाएं।

*सब चुप क्यों हैं* 
***************
शहर दिल्ली अशांत है
चारों ओर भूचाल जैसा वातावरण
किसने छीन लिया
सुख चैन दिल वालों की दिल्ली का
तलवारों की झनझनाहट
पत्थरों की तड़ातड़
बंदूकों की धांय धांय
जिन बसों ने _जिन वाहनों ने
पहुंचाया मंजिलों तक
फूंक दिया तथाकथित नेतृत्व में
सड़कें पसरी रह गईं सड़कों पर
बहुमंजिली इमारतें थर-थर कांपने लगीं
चीख पुकारों ने कलेजा फाड़ कर रख दिया
धरती का
खून से लथपथ लाशें
निराश हताश रास्ते
श्मशान का रूप लेती बस्तियां
आकाश में समाती धरती की धूल और काला होता आसमान
दंगा बढ़ा
बढ़ता ही गया
सबको पता था
दंगा क्यों हुआ बस दंगाइयों को छोड़कर
सबको पता था
दंगा पूरी तरह वर्गसंप्रदाय का था
किन्तु
कोई नहीं जानता सड़कों पर पड़ी
लाशों का  वर्ग संप्रदाय
नालियों में बहते खून का वर्ग संप्रदाय
अनाथ हुए बच्चों का वर्ग संप्रदाय
विधवा हुई बहिन का वर्ग संप्रदाय
छाती पीटती मां का वर्ग संप्रदाय
कौन थे जो
जय जयकार के उदघोष करके
हारते जा रहे थे
अपने आप से
सब चुप क्यों हैं ?
-सतीश श्रीवास्तव मुंशी प्रेमचंद कालोनी करैरा-