गंभीर कुपोषित बच्चों का समुदाय आधारित प्रबंधन कर दूर करेगे कुपोषण, आंगनवाडी कार्यकर्ताओ और एएनएम को दिया गया प्रशिक्षण - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

Thursday, February 13, 2020

गंभीर कुपोषित बच्चों का समुदाय आधारित प्रबंधन कर दूर करेगे कुपोषण, आंगनवाडी कार्यकर्ताओ और एएनएम को दिया गया प्रशिक्षण

करैरा। महिला बाल विकास द्वाराअब गभीर कुपोषित बच्चों का समुदाय आधारित प्रबंधन कर उन्हें कुपोषण से मुक्त करने के लिए अभियान चलाया शुरू किया जा रहा है इसके किए सी सेम अभियान की शुरुआत आंगनवाडी कार्यकर्ताओ और एएनएम का प्रशिक्षण परियोजना कार्यालय करैरा में आयोजित किया गया जिसमें करैरा ग्रामीण , अमोला , आमोलपठा , करैरा शहरी , सिरसौद , दिनारा प्रथम और द्वतीय , डामरौकला , कालीपहाड़ी सेक्टर की कार्यकर्ता एएनएम शामिल हुई प्रशिक्षण का आयोजन परियोजना अधिकारी रविरमन पाराशर , सीआईडी चाई प्रोजेक्ट कोआर्डिनेटर नरेंद्र तिवारी की उपास्थि में हुआ जिसमें सेक्टर पर्यवेक्षक सलमा बैरागी ,  राजप्रभा मौर्य , मंजू धाकड़ , विनीता भार्गव , ममता आर्य , लेशम सिंह ने आपने आने सेक्टर की कार्यकर्ताओ को प्रशिक्षण दिया ।
परियोजना अधिकारी रविरमन पाराशर ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अभियान को जिस उद्देश्य के साथ शुरू किया जा रहा है उसमे कार्यकर्ता और एएनएम की महत्वपूर्ण भूमिका है समुदाय आधारित प्रबंधन के इस कार्यक्रम में उन बातों का खास ध्यान रखा गया है जिनके कारण बच्चे के परिजन उन्हें एनआरसी में भर्ती नही कराते थे इस अभियान में गंभीर कुपोषित बच्चों का एएनएम के सहयोग परीक्षण कर चिकित्सकीय जटिलता बाले बच्चे एनआरसी में रेफर किए जाएंगे और बिना जटिलता बाले गंभीर कुपोषित बच्चों के आंगनवाडी केंद्र पर ही रखकर 84 दिन में  उनको कुपोषण से मुक्त करने का कार्यक्रम बनाया गया है। इस दौरान सीआईडी चाई  प्रोजेक्ट कोआर्डिनेटर नरेंद्र तिवारी में सी सेम अभियान में कार्यकर्ताओं और एएनएम की भूमिका पर विस्तार से प्रकाश डाला साथ ही साथ ही गंभीर कुपोषित बच्चों की पहचान और चिन्हाकन कि जानकारी  भी बताई साथ ही बताया कि जिन बच्चों का प्रबंधन किया जाएगा बाद में उनका फालोअप भी हर माह  ग्राम में टीकाकरण दिवस के दौरान किया जाएगा। सभी सेक्टर पर्यवेक्षको ने अपने अपने सेक्टर कि कार्यकर्ताओ को अलग अलग बेच में प्रशिक्षित किया।