सरपंची चुनाव में आदिवासी वोटरों को लुभाने कटवाए थे 5 बकरे, बकरा पार्टी को लेकर हुआ हत्याकाण्ड - TIMESNEWS

Breaking

TIMESNEWS

सच्चाई की कलम से

सिंधिया गद्दार मेरे आदर्श अब नही- मानसिंह फौजी

विज्ञापन

loading...

Thursday, February 13, 2020

सरपंची चुनाव में आदिवासी वोटरों को लुभाने कटवाए थे 5 बकरे, बकरा पार्टी को लेकर हुआ हत्याकाण्ड

शिवपुरी/खनियाधाना। जिले के खनियाधाना क्षेत्र के मायापुर थाना क्षेत्र के खडीचरा गांव में हुए हत्याकाण्ड में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि इस हत्याकाण्ड के दौरान तीन लोगों को और गोलीयां लगी है। जिसमें से एक युवक के सिर में गोली लगी है। जिससे उसकी हालात गंभीर बनी हुई है। यह पूरा घटनाक्रम चुनाव को लेकर घटित हुआ है। जिसमें दोनों पक्ष सरपंची के चुनाब की दावेदारी दिखा रहे थे। जिसके चलते एक पक्ष ने आज आदिवासी बोटरों को लुभाने बकरा पार्टी रखी थी। जिसे लेकर उक्त हत्याकाण्ड हुआ है।
जानकारी के अनुसार पिछले चुनाव में नीलम यादव और राजपाल यादव में विबाद चल रहा था। इस विबाद के बाद नीलम यादव के पक्ष का ही एक युवक गांव का सरपंच बन गया था। परंतु उसके बाबजूद भी दोंनों में रजिंश चल रही थी। इस बार फिर सीट ओबीसी होने पर दोनों पक्ष चुनाव की तैयारी में लगे हुए थे। एक तरफ नीलम अपनी दावेदारी दिखा रहा था और दूसरी और राजीव यादव दावेदारी दिखा रहा था।
इसी के चलते आज सुबह सरपंच पद के दावेदार नीलम यादव ने चुनाव से पहले अपने आदिवासी बोटरों को सांधने अपने फार्म पर आदिवासीयों के लिए 5 बकरे कटबाए थे। इस बकरा पार्टी में शामिल होने के लिए नीलम अपने ट्रेक्टर और कमान्डर जीप में भरकर उक्त आदिवासीयों को अपने फार्म पर ले जा रहा था। तभी रास्ते में राजीव और राजपाल मिल गए। जिन्होंने आदिवासीयों को रोककर कहा कि बकरा भले ही खा लो अपना ईमान नहीं बेचना। यह बात नीलम को नागवार गुजरी और उसने गाली देना प्रारंभ कर दिया।
जब राजपाल और राजीव ने उसे गाली देने से रोका तो आरोपीयों ने एक राय होकर उक्त लोगों पर फायर झौंक दिया। जिससे राजपाल की मौेके पर ही मौत हो गई। और राजीब गंभीर रूप से घायल हो गया।
इस गोलीकाण्ड की सूचना पर राजीब का चचेरा भाई हरपाल अपने अन्य साथियों के साथ भागकर पहुंचा तो आरोपीयों ने उनपर भी पत्थरों से हमला बोल दिया। जिससे हरपाल भी घायल हो गया। इस घटना के बाद आरोपीयों ने हरपाल पर कमाण्डर गाडी चढाने का प्रयास किया। तभी हरपाल के साथी भी वहां आ गए और उन्होंने नीलम के लोगो पर पत्थरों से हमला बोल दिया। इस मामले में नीलम को भी चौटे आई है।
इस मामले में मृतक का चचेरा भाई आरोपी नीलम यादव, कल्ला और करनसिंह यादव सहित 10 से 12 लोगो पर हत्या का आरोप लगा रहा है। इस मामले में घायलों का इलाज जिला चिकित्सालय में जारी है। दूसरे पक्ष से नीलम भी घायल हुआ है। नीजम को भी खनियांधाना उपस्वास्थ्य केन्द्र से जिला चिकित्सालय लेकर आए है।
इस घटना के बाद गांव में तनाब की स्थिति निर्मित हो गई है। मृतक के परिजनों ने कमाण्डर जीप को पलटाने और उसमें आग लगाने का प्रयास किया है। परंतु इस मामले की सूचना पर पुलिस गांव में पहुंच गई है। पुलिस ने पूरे गांव को छावनी में तब्दील कर दिया है।

Add-2

विज्ञापन

loading...